fbpx Press "Enter" to skip to content

कांग्रेस के पांच विधायक दिल्ली जाकर भाजपा में शामिल

  • मणिपुर में फिर भाजपा का जलवा बरकरार

  • कांग्रेस ने कहा पैसा और सत्ता का दुरुपयोग

  • मुख्यमंत्री की मौजूदगी में भाजपा में शामिल

  • पूर्व सीएम इबोबी के भतीजे ने भी पाला बदला

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : कांग्रेस के पांच विधायक ने मणिपुर में पाला बदल लिया है। लिहाजा यह माना

जा सकता है कि ब मणिपुर में राजनीतिक स्थिति ने एक बड़ा जादू कर दिया है। मणिपुर

विधानसभा से हाल में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस के पांच विधायक ने राज्य के मुख्यमंत्री

एन बीरेन सिंह की उपस्थिति में आज नई दिल्ली में भाजपा का दामन थाम लिया। इनमें

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व मणिपुर के पूर्व मुख्यमंत्री इबोबी सिंह के भतीजे हेनरी ओकराम

भी शामिल हैं। सभी ने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात की। भाजपा महासचिव

राम माधव ने कहा है कि पिछले दिनों राजस्थान के राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर

कांग्रेस जो फालतू आरोप भगवा पार्टी पर लगा रही थी। दरअसल वही सारे काम वह

मणिपुर में भाजपा नीत एन. बीरेन सिंह सरकार को गिराने के लिए कर रही थी। इस

अवसर पर पूर्वोत्तर मामलों के भाजपा के प्रमुख रणनीतिकार राम माधव ने कांग्रेस पर

बीरेन सिंह सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया और दावा किया कि

अब उनकी सरकार स्थिर है। माधव ने ये आरोप पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक

संवाददाता सम्मेलन में लगाए, जहां उनकी और अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में

मणिपुर के पांच पूर्व कांग्रेस विधायकों ने भाजपा का दामन थाम लिया। भाजपा का दामन

थामने वाले पूर्व विधायकों में राज्य के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री ओकराम

इबोबी सिंह के भतीजे ओकराम हेनरी, पनोनेम ब्रोकेन, ओइनाम लुखोई सिंह, नामथंग

हाओकिप और गिनसुआनहव जोऊ शामिल हैं। ये पांच विधायक उन आठ कांग्रेसी

विधायकों में शामिल थे, जिन्होंने मणिपुर विधानसभा में पिछले दिनों पार्टी ह्विप का

उल्लंघन करते हुए विश्वास मत के दौरान अनुपस्थित रहकर अप्रत्यक्ष रूप से भाजपानीत

एन. बीरेन सिंह सरकार की जीत की राह आसान की थी।

कांग्रेस के पांच विधायक विश्वास मत में अनुपस्थित थे

बाद में इन सभी ने कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया था।

मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह की उपस्थिति में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वैजयंत जय पांडा ने सभी

पांचों पूर्व विधायकों को भाजपा की प्राथमिक सदस्यता दिलाई। भाजपा में सभी का

स्वागत करते हुए पार्टी महासचिव राम माधव ने कहा, ‘मणिपुर की बीरेन सिंह सरकार को

अब कोई खतरा नहीं है। वह न सिर्फ अपना कार्यकाल पूरा करेगी, बल्कि सत्ता में वापसी

भी करेगी। राज्य सरकार को कुल 47 में से 34 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। 60

सदस्यीय विधानसभा की 13 सीटें अभी खाली हैं।’ उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस मणिपुर में वही

काम कर रही थी, जिसका आरोप वह राजस्थान में हमारी पार्टी पर लगा रही थी।

राजस्थान के कांग्रेसी विधायक इस्तीफा नहीं देना चाहते थे, लेकिन मणिपुर के विधायकों

ने पार्टी व विधानसभा से इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थामा है।

भाजपा की ताकत अब स्पष्ट तौर पर अधिक

दूसरी तरफ ,कांगेस के मणिपुर प्रभारी सांसद गौरव गोगोई ने आज गुवाहाटी में कहां कि

भारतीय जनता पार्टी ने पैसे और सत्ता के दुरुपयोग कर रहा है। उन्होंने बीजेपी पर आरोप

लगाया लोकतंत्र तंत्र विनाश करके बीजेपी ने कांग्रेस का एमएलए को खरीद लिया है।

भारतीय लोकतंत्र के लिए बहुत खतरनाक है । उन्होंने कहा बीजेपी सरकार पर जनता का

विश्वास टूटने लगा इसीलिए बीजेपी पार्टी ने कांग्रेस का विधायक को पैसे के लालच देकर

लोकतंत्र पर हमला करने जा रहा है। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने मंगलवार को

पार्टी ह्विप का उल्लंघन करते हुए विधानसभा के एक दिवसीय सत्र से दूर रहने वाले

कांग्रेस के छह विधायकों के साथ भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। इन

विधायकों ने कांग्रेस के साथ-साथ विधानसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है।

मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के सामने बीते 17 जून को उस समय

राजनीतिक संकट खड़ा हो गया था, जब छह विधायकों ने समर्थन वापस ले लिया था,

जबकि भाजपा के तीन विधायक पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे। बीते 10

अगस्त को भाजपा-नीत सरकार ने राज्य विधानसभा में 16 के मुकाबले 28 वोट से

विश्वास मत जीता था।

कांग्रेस के आठ विधायकों ने व्हिप का उल्लंघन किया था

कांग्रेस के आठ विधायकों ने पार्टी व्हिप का उल्लंघन करते हुए सदन की कार्यवाही में भाग

नहीं लिया था। विश्वास मत से पहले इबोबी सिंह द्वारा बुलाई गई कांग्रेस विधायक दल

की बैठक में केवल 13 विधायक पहुंचे थे. इसके फौरन बाद मणिपुर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के

सात पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया था।

 


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

2 Comments

Leave a Reply