fbpx Press "Enter" to skip to content

मछली और मुर्गा की दूकानों में उमड़ी भीड़, लोगों में भूख से तड़पने वाली स्थिती दिखी

रांची : मछली और मुर्गे की दुकानों में रविवार को लॉकडाउन के लंबे वक़्त के बाद दुकानें

खुलते ही लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। जैसे कई दिनों से भूख से लोग तड़प रहे हो, ऐसा

हाल दिखा खरीददारों का। बता दें कि लंबे समय के बाद रविवार से राजधानी में मांस-

मछली की बिक्री शुरू हुई जिसकी सूचनामात्र ही आग की तरह फैलती चली गयी और

लोग बाजारों की ओर दौड़ पड़े जिससे दूकानों में सुबह अत्याधिक भीड़ देखी गई।

मछली, मुर्गा की खरीददारी में किया सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन

खरीदारों की भीड़ के कारण बाजारों में लॉकडाउन के लिए तय नियमों का अनुपालन नहीं

हो रहा है। आज राजधानी रांची के कई इलाकों में लगी मुर्गा और मछली की दुकानों के

आसपास भारी भीड़ एकत्र नजर आई। एचईसी के शालीमार मार्किट हाईजेनिक फिश सेंटर

में ग्राहकों की भारी भीड़ नजर आई। लोगों ने शारीरिक दूरी का बिल्कुल ही कोई ध्यान नहीं

रखा। बाजार में उपस्थित लोग तो मास्क भी नहीं पहने थे। न ही मौके पर पुलिस मौजूद

थी। सुबह से यह भीड़ फिश सेंटर बनी हुई थी। इसके अलावा लालपुर बाजार, डोरंडा बाजार,

बटन तालाब, कांटा टोली एवं बुटी मोड़ में भी मुर्गा और मछली दूकानों में भीड़ देखी गई।

जहां सोशल डिस्टेंसिंग का कोई पालन नहीं होता दिखा जो अपने आप में एक अपराध है।

हालांकि बढ़ती भीड़ को संयम में रखने के लिए पुलिस की दुकानों पर गस्ती हुई, जिसके

बाद लोगों की भीड़ धीरे-धीरे छटने लगी। कई ग्रहकों का हुजूम एक-एक कर के मांस,

मछली की खरीददारी के लिए दोपहर तक बढ़ता ही रहा। फिर सोश्ल डिस्टेन्सिंग व

सतर्कता की बातों की जानकारी देते हुए लोगों को सलाह दी गई की भीड़ ना लगाए और

एक-एक कर के जैसे दवा दुकानों में दवा खरीद रहे है वैसे ही मांस मछली की खरीददारी

करे अन्यथा दुकान प्रशासन द्वारा बंद करवा दी जाएगी। जो कुछ देर लोग समझ गए पर

पुलिस के जाते ही फिर से भीड़ लगा कर लोगों ने नियमों का लगातार उल्लंघन किया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!