Press "Enter" to skip to content

स्कूल का प्रथम छात्र जाली नोट कारोबार में शामिल पुलिस हैरान




मालदाः स्कूल का प्रथम छात्र यानी फर्स्ट व्यॉय जाली नोट के कारोबार में पुलिस के हत्थे




चढ़ गया है। इस बच्चे की पहचान और पढ़ाई की उपलब्धि को जानकर पुलिस अधिकारी

हैरान हैं। जाली नोट के कारोबार की गुप्त जांच चल रही थी। इसी क्रम में पुलिस ने जब

एक नाबालिग को रंगे हाथ गिरफ्तार किया तो उसका परिचय जानकार पुलिस अधिकारी

भी हैरान हो गये हैं। गिरफ्तार किया गया बालक यहां के एक गैर सरकारी स्कूल में अपनी

कक्षा का प्रथम छात्र है। पढ़ाई में मेधावी होने के बाद भी वह कैसे इस जालसाजी के गिरोह

में शामिल हो गया, इसकी जांच अभी चल रही है। स्थानीय गोलापगंज फाड़ी की पुलिस ने

साधारीटोली में छापा मारकर एक स्कूली छात्र को चार लाख 40 हजार रुपये के जाली नोट

के साथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद उसे जुवानाइल कोर्ट में हाजिर किया गया

है। उस मेधावी स्कूली छात्र का घर कालियाचौक में बांग्लादेश की सीमा के बिल्कुल करीब

साधारीटोला में हैं। यहां से बच्चे की गिरफ्तारी के बाद ऐसी आशंका जतायी जा रही है कि

जाली नोट के कारोबारी अब लालच में ऐसे बच्चों को फांस रहे हैं। अब पुलिस इस मामले

की जांच कर रही है कि जाली नोट कहां से बनकर कहां भेजे जा रहे हैं। उस स्कूली छात्र के

पास से पांच सौ रुपये के चार सौ जाली नोट के अलावा दो हजार रुपये के 120 जाली नोट




बरामद हुए हैं।

स्कूल का प्रथम छात्र रंगे हाथ जाली नोट के साथ

पुलिस के मुताबिक वहां के थाना प्रभारी सुंदर साहा के नेतृत्व में शनिवार की रात से ही इस

गिरोह को दबोचने का काम प्रारंभ किया गया था। पुलिस की नजर वहां से बस स्टैंड इलाके

में संदिग्ध तरीके से घूमते इस बच्चे पर पड़ी थी। कक्षा सात के इस छात्र को देखकर पहले

यह अनुमान लगाना ही कठिन था कि वह भी जाली नोट के कारोबार से जुड़ा हुआ है।

लेकिन पुलिस के पास पहले से गुप्त सूचना थी। उसी आधार पर उससे पूछताछ करने पर

संदेह पुख्ता हुआ था। बाद में उसकी तलाशी लेने पर यह सारा जाली नोट बरामद हो गया

है। समझा जाता है कि जाली नोट के कारोबारियों ने इस बच्चे को जाली नोट पहुंचान के

लिए कूरियर के तौर पर लगा रखा था। पूछताछ में बच्चे ने कुछ और लोगों के नाम बताये

हैं। लेकिन पुलिस ने जांच का हवाला देते हुए इस बारे में जानकारी देने से इंकार कर दिया

है। थाना प्रभारी मदन मोहन राय ने कहा कि उस स्कूली छात्र के साथ एक और व्यक्ति

था,जो पुलिस को देखकर भाग निकला है। अब उस छात्र से मिली सूचना के आधार पर शेष

लोगों की तलाश चल रही है।



More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »

Be First to Comment

Leave a Reply