Press "Enter" to skip to content

फिल्म इंडस्ट्री के दबंग खान सलमान ने अपनी आने वाली फिल्म पर चर्चा की




अंतिम, पुलिस और गुंडे की मुठभेड़ का जीता जागता उदाहरण है
फैनों की उम्मीद की वजह से सतर्क रहना पड़ता है हमेशा
मै वैसी फिल्में करता हूं जो पूरा परिवार साथ देख सके
आरती सक्सेना पत्रकार

मुंबईः फिल्म इंडस्ट्री मे कुछ लीजेंड एक्टरर्स ऐसे हैं जिनके नाम पर फिल्म बिकती है । फिल्म हिट हो या फ्लॉप। कहानी जो भी हो फिर भी शोहरत उनके कदम कुछ ऐसे चुमती है कि सिर्फ उनके नाम पर फ्लॉप फिल्म भी 200 करोड़ तक का बिजनेस कर लेती है । ऐसे ही है हमारे बालीवुड के आज के सबसे दमदार दंबग हीरो सलमान खान । 




वॉलीवुड मे सलमान खान एक ऐसा नाम है जिसके पीछे हर कोई दिवाना है । यही वजह है कि दबंग सलमान खान जब भी कोई फिल्म लेकर आते हैं उसकी चर्चा पहले से ही हेानी शरू हो जाती है। ऐसा ही कुछ हाल उनकी हालिया रिलीज फिल्म अंतिम द फाइनल ट्रुथ का है ।

देखें इस फिल्म का प्रोमो

आयुश शर्मा और सलमान खान की फिल्म अंतिम जिसका डायरेक्शन महेश मांजरेकर ने किया है दर्शकों द्वारा पसंद की जा रही हैं । खुद सलमान खान भी इस फिल्म मे काम करके खुशी महसूस कर रहे हैं ।

उनकेा पूरी उम्मीद है कि ये फिल्म हर वर्ग के लोगो को पसंद आयेगी। अपनी फिल्म अंतिम को लेकर सलमान खान ने कुछ खास बाते बताई साथ ही लंबा लॉकडाउन, सिनेमाघरों की खस्ता हालत और अन्य कई दिलचस्प विषयों पर भी बातचीत की । ऐसे ही कई सवालो के जवाब दिये सलमान खान ने अपने खास अंदाज मे दिलचस्प बातचीत के दौरान।

फिल्म में स्वागत नहीं करोगे हमारा एक टैग लाइन है

सलमान आप जब भी किसी फिल्म की रिलीज के साथ अपने फैन्स से कहते हैं स्वागत नहीं करोगे हमारा, तो ये सुन कर आपके सारे फैन्स बावले हो जाते हैं और आपकी फिल्म का जोर शोर से स्वागत करते हैं । अब आपकी एक और फिल्म अंतिम की रिलीज को लेकर क्या कहेंगे । ये फिल्म दर्शको केा कितना प्रभावित कर पायेगी ?

काफी कुछ नया है इस बार । सबसे पहले फिल्म की कहानी अच्छी है महेश माजंरेकर ने इस फिल्म का निर्देशन किया है । महेश मांजरेकर, जो हमारे अच्छे दोस्त है जो कि सिर्फ अच्छे एक्टर ही नही अच्छे डायरेक्टर अच्छे लेखक भी हैं।

उन्होने फिल्म मे काफी मेहनत की है। महेश के अलावा आयुश ने भी इस फिल्म के लिये बहुत मेहनत की है। मैने जब आयुश की एक्टिंग देखी इस फिल्म में तो मुझे बहुत खुशी हुई कि हमारे परिवार मे अच्छा एक्टर है।

मुझे उम्मीद है कि ये फिल्म दर्शकों को जरूर पसंद आयेगी । वैसे रिस्पांस तो अच्छा ही मिल रहा है अभी तक । आपकी पिछली हिट फिल्म टाइगर जिंदा है, में भी आप डिटेक्टिव पुलिस इंस्पैकटर बने थे और दबंग वन टू और थ्री मे भी पुलिस आफिसर बने है । और अब इस फिल्म मे आप सरदार पुलिस इस्पेक्टर बने हैं ।

फिल्म मे आपका डायलॉग भी है जो हिट रहा है सरदार की हटेगी तो सब की फटेगी । इस किरदार को लेकर क्या कहेंगे ? दोनों ही फिल्मों मे मेरे किरदार कठिन थे।

एक्शन के दौरान मुझे कितनी तकलीफ हुई है ये मै ही जानता हूं। मेरा दर्द मेरी पसली मेरी हडडी और मेरे घुटने ही बता सकते हैं जो दोनों फिल्मों की शुटिंग के दौरान घायल हुए हैं।

यह दरअसल एक मराठी सिनेमा की रिमेक है

जहां तक इस फिल्म में सरदार पुलिस आफिसर के किरदार की बात है तो ये एक मराठी फिल्म की रिमेक हैं जिसमे एक गुंडा था और दूसरा पुलिस वाला था । पुलिस वाले का किरदार कम था ।

चूंकि मुझे पुलिस का किरदार अच्छा लगा इस लिये इसे हमने डेवलप किया । इस किरदार के लिये कई और एक्टरों से बात भी की गई लेकिन बाद में मैंने सोचा मैं ही क्यों ना ये किरदार निभाऊ ।

सो मैंने  तैयारी की ली पुलिस वाले का किरदार निभाने की । जो कि एक शांत आफिसर है सब कुछ जानता है लेकिन बहुत कम और बहुत धीरे से बोलता है।  लेकिन चूंकि वो एक ईमानदार सरदार है इस लिये वो कहता है अगर सरदार की हटेगी तो सब की फटेगी ।

पहली बार ऐसा हुआ कि इस फिल्म मे आपके साथ कोई हीरोइन नहीं है?

मेरे साथ एक हीरोइन फाइनल की थी उसके साथ मेरा एक गाना भी रिकार्ड हुआ था लेकिन बाद में कहानी के हिसाब से ये सही नहीं लग रहा था । इसलिये हीरोइन वाला एंगल ड्राप कर दिया। आपकी पिछली फिल्म राधे बाक्स आफिस पर कोई खास कमाल नही दिखा पाई क्या इस के बाद आप एर्लट हो गये हैं आने वाली फिल्मों को लेकर? 

फिल्मो की सफलता असफलता एक एक्टर के जीवन मे चलता रहता है । और जहां तक एर्लट रहने की बात है तो मै हमेशा ही एर्लट रहता हूं। अगर फिल्म कोई फ्लॉप होती है तो हमे ये जानने की कोशिश करनी चाहिये कि फिल्म मे कहां क्या कमी रह गई । लेकिन जहां तक राधे का सवाल है तो ये फिल्म ओटीटी पर रिलीज हुई तो कलेक्शन कम था ।

थियेटर में राधे का कलेक्शन सही रहा है

लेकिन बाद में यही फिल्म जब थियेटर मे रिलीज हुई तो अच्छा कलेक्शन हो गया । अब ऐसे मे ये समझना मुश्किल है कि फिल्म के कम कलेक्शन के पीछे ओटीटी पर रिलीज होना है या फिल्म का खराब होना (हंसते हुए )।




आज कल कहा जा रहा है कि औ टी टी सिनेमा हाल पर भारी पड़ रहा है ।क्या आप इससे सहमत हैं?

नही … सिनेमा हॉल मे फिल्म देखने की बात ही कुछ और है । ओटी टी अच्छा है लेकिन सिनेमा हाल से उसकी तुलना नही है । अगर ऐसा होता तो कब के सिनेमा हाल बंद हो गये होते ।

दर्शकों की तकलीफ है कि टिकट के दाम बहुत ज्यादा है ?

मैडम पिछले दो सालो से सिनेमा हॉलों को करोड़ों का नुकसान हुआ है ऐसे मे अगर वो अपने टिकट प्राइस कम रखेगे तो उनका दिवाला निकल जायेगा । इस लिये वो ऐसा नही कर रहे । वैसे सिंगल स्क्रीन थियेटर तो हैं जिनका टिकट कम है । दर्शक वहां भी फिल्म देख सकते हैं ।

आज कल एक बार फिर शादी का मौसम आ गया है ऐसे में अगर शादी की बात करे तो आप शादी को कैसे परिभाषित करेंगे ।आज के समय मे शादी कितनी जरूरी है ?

शादी जरूरी है लेकिन आज मिलावट  के जमाने मे इसकी वेल्यू कम हेाती जा रही है। आज लोग शादी अपने कमफर्ट के हिसाब से करना चाहते हैं। कोई किसी के लिये सेकिफाइज नहीं करना चाहता ।

इस वजह से शादी से ज्यादा तलाक हो रहे हैं । हमारे मां बाप ने हमारे लिये क्या कुछ नहीं किया । या ये भी कह सकते हैं क्या हमारे मां बाप ने अपनी शादी के लिये सेक्रिफाइज नही किये। तभी तो उनकी शादी लंबी टिकी है ।

जब मुझे लगेगा तो मैं शादी कर लूंगा

लेकिन आज ऐसा नही है आज लोगो की नजर मे शादी की वेल्यू कम हेाती जा रही है। आज लोग आजादी के इतने ज्यादा कायल हो गये हैं कि उनको शादी का बंधन बोझ लगता है। सो मेरा मानना है कि अगर आप सही ढंग से इस रिश्ते को निभा सकते हो तो ही शादी करो  वर्ना मत करो । मुझे भी जब लगेगा कि मै शादी कर सकता हूं या मै अपने जीवनसाथी के साथ सेट हो पाऊंगा तो ही मैं शादी करूंगा ।

आपने फैन्स की तादाद राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर पर बहुत ज्यादा है ऐसे मे इतने सारे फैन्स का प्यार आपको प्रोत्साहित करता है या डराता है ? 

दोनों भी कह सकते हैं । क्योंकि जब हमे इतने लोगों का प्यार मिलता है तो हमारी जिम्मेदारी और बढ जाती है ।क्योंकि हमे अपने फैन्स का प्यार बनाये रखना है, मेनटेन रखना है। लिहाजा अगर मेरे काम मे कमी आने लगती है तो मुझे अपने फेन्स की आंखो मे वो नजर आने लगता है ।

मैं परेशानी में और मेहनत करता हूं

जैसे कि मेरी कुछ फिल्मों ने जो अच्छी नहीं चली दर्शकों को निराश किया ।लिहाजा अपने लिये जब मै फैन्स की नजर में कमी देखता हूं तो मुझे और एर्लट होना पड़ता है । और मै और ज्यादा मेहनत करना शुरू कर देता हूं ताकि मुझे अपने फैन्स का प्यार लगातार मिलता रहे ।

आपकी जिंदगी मे काफी उतार चढाव आये हैं एक तरफ अगर फैन्स का प्यार और नाम शोहरत हैं जो दूसरी तरफ कोर्ट केस और बाकी टेंशन भी बने हुए हैं ऐसे मे आप दोनो चीजों केा कैसे मेंटेन करते हैं?

अगर किसी भी चीज को कर हम बहुत सोचते हैं टेशन लेते हैं तो जिंदगी में आगे नही बढ़ पाते । वो टेशन ही हमें अंदर ही अंदर खोखला कर देता है। मेरी जिंदगी मे भी ऐसे टेंशन आये जो मुझे दुखी करने के लिये काफी थे ।

लेकिन मैने यही सोचा कि मै जितना ज्यादा काम करूंगा उतना ज्यादा व्यस्त रहूंगा। और जितना ज्यादा व्यस्त रहूगा मुझे उतना ही कम सेाचने को मिलेगा ।बस इसी तरह मै अपनी लाइफ को टेंशन फ्री करने की कोशिश करता रहता हूं।

मैं ऐसी फिल्में बनाता हूं जो पूरा परिवार साथ देखें

आजकल फिल्मों मे इंटीमेट सीन्स की भरमार है आज हीरो हो या हीरेाइन कोई भी इंटीमेट सीन्स करने से नही कतराते । लेकिन आप फिल्मों में चुंबन दृश्य या बेड सीन करने के लिये सख्त खिलाफ हैं फिर भी आपकी फिल्मे सफल हेाती है। इसके पीछे कया खास वजह है ? 

सबसे बड़ी वजह यही है कि मेरी फिल्में ऐसी होती है जो पूरा परिवार एक साथ बैठ कर देख सकता है । हमारा खुद का परिवार इतना बड़ा है कि मुझे ये बिल्कुल अच्छा नहीं लगता कि मेरे माता पिता मुझे इंटीमेट सीन करते देखे ।

इसी तरह जब और लोग अपने परिवार के साथ फिल्म देखने जाते हैं तो उनहे खास तौर पर मेरी फिल्मो को लेकर ये टेंशन नही होता कि क्या मेरी फिल्म परिवार के साथ देखने लायक होगी ।

यही वजह है कि मेरी फिल्म जब भी रिलीज होती है लोग पूरे परिवार के साथ देखने जाते है। और इसी वजह से मैने प्यार किया हम आपके हैं कौन और प्रेम रतन धन पायो जैसी परिवारिक फिल्में हिट हो जाती है । जिसको सभी देखते हैं । मेरी यही कोशिश होती है कि मेरी फिल्में एंटरटेनमेट से भरी साफ सुथरी फिलमे हो जिसे हर पीढ़ी के लोग देख सके ।



More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from फ़िल्मMore posts in फ़िल्म »

One Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: