fbpx Press "Enter" to skip to content

सीमा पर तस्करी और अवैध कारोबार रोकने की तैयारी

  • उत्तर बंगाल और बांग्लादेश के जिला शासकों की संयुक्त बैठक
प्रतिनिधि

मालदाः सीमा पर तस्करी रोकने के लिए पंद्रह जिला शासक आज एक साथ संयुक्त

बैठक में शामिल हुए। इनमें से छह जिला शासक पश्चिम बंगाल के थे जबकि बांग्लादेश

के नौ जिलों के जिलाधिकारियों ने इस बैठक में भाग लिया। इस बैठक में मुख्य तौर पर

सीमा पर तस्करी रोकने के तौर तरीकों पर ही बात चीत हुई। यह पाया गया कि इस

भारत- बांग्लादेश सीमा पर नशा, जाली नोट, गाय और हथियार के अलावा अवैध

घुसपैठ एक बहुत बड़ी समस्या है।

दोनों देशों के अधिकारियों ने इस बात को स्वीकार किया और इसे रोकने के लिए अपने

तरीके से सामूहिक कार्ययोजना बनाकर काम करने की बात कही। दोनों देशों के

प्रशासनिक अधिकारियों की यह बैठक मालदा के प्रशासनिक भवन में आयोजित

हुई थी। तीन घंटे तक चली इस बैठक में बांग्लादेश की तरफ से करीब साठ सदस्यों

का प्रतिनिधिमंडल शामिल हुआ। इसमें बांग्लादेश बार्डर गार्ड, पुलिस और अन्य

प्रशासनिक अधिकारी भी शामिल थे।

भारत से सटे सीमा के चापाइ नवाबगंज, नौगांव, जयपुरहाट, दिनाजपुर, ठाकुरगांव,

पंचगढ़, नीलफामारी, लालमनि हाट और कुड़िग्राम के जिलाधिकारी इस बैठक में

शामिल हुए थे।

पश्चिम बंगाल के छह जिलों में मालदा के अलावा कुचबिहार, उत्तर और दक्षिण

दिनाजपुर, दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी के जिलाधिकारियों के अलावा पुलिस अधीक्षक

भी इसमें शामिल हुए।

बैठक में तस्करी रोकने के तौर तरीकों के अलावा कई इलाकों में तार से घेराबंदी के

अलावा नदी के तटबंधों के टूटने से होने वाले नुकसान को कम करने पर भी चर्चा हुई है।

साथ ही हथियारों की तस्करी को भी रोकने के लिए सभी प्रतिनिधियों ने जोर दिया है।

बैठक में मौजूद सभी अधिकारी इस बात के लिए सहमत थे कि इस किस्म की अवैध

गतिविधियों को कठोरता के साथ रोका जाना चाहिए।

सीमा पर तस्करी के अलावा भी जरूरी मुद्दों पर हुई चर्चा

बांग्लादेश की तरफ से बताया गया कि वर्तमान में म्यांमार के रास्ते मादक और हथियार

दोनों का ही कारोबार काफी बढ़ गया है। इधर भारत से भी नशे की दवाइयों की खेप

बांग्लादेश में पहुंचने से परेशानी बढ़ रही है।

इस बैठक में उल्लेखित मुद्दों पर एक सहमति पत्र भी तैयार किया गया है।

साथ ही सीमा पर तस्करी रोकने की दिशा में हुई कार्रवाइयों की समीक्षा और सुधार के

लिए हर साल जिस तरीक से बैठक होती है, उसे और बेहतर बनाये जाने की जरूरत है।

बैठक में खास तौर पर इस बार हबीबपुर इलाके में नदी के कटाव को लेकर चिंता जाहिर

की गयी है। सभी ने माना है कि इस इलाके में नदी के कटाव को रोकने के लिए खास कार्य

योजना बनाये जाने की जरूरत है।

वैसे पश्चिम बंगाल की सीमा पर बीएसएफ और बांग्लादेश बार्डर पुलिस के बीच गोली

चालन की घटना के बाद इस बैठक से अलग बी दोनों सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों ने

बैठक की है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

4 Comments

  1. […] सीमा पर तस्करी और अवैध कारोबार रोकने क… उत्तर बंगाल और बांग्लादेश के जिला शासकों की संयुक्त बैठक प्रतिनिधि मालदाः सीमा पर तस्करी रोकने के … […]

Leave a Reply

error: Content is protected !!