Press "Enter" to skip to content

बीएसएफ के महानिदेशक ने कहा अधिकांश हिस्सों में अगले वर्ष तक बाढ़ लगेगी




अवैध घुसपैठ करने वाले तीन हजार बांग्लादेशी गिरफ्तार, मवेशियों की तस्करी पर पाबंदी
बांग्लादेश सीमा के साथ भारत की 4100 किमी भूमि और 930 किमी नदी सीमा क्षेत्र
इस साल करीब 130 करोड़ रुपये की ड्रग्स और निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई
भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : बीएसएफ के महानिदेशक पंकज कुमार सिंह ने आज कहा, भारत अगले साल तक पूर्वोत्तर राज्यों और बांग्लादेश के बीच ज्यादातर हिस्सों में सीमा पर बाड़ लगाने का काम पूरा करने की कोशिश कर रहा है । सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों ने बुधवार को अर्धसैनिक बल के 57वें स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर यह बात कही।




बीएसएफ के अधिकारियों ने बताया कि भारत-बांग्लादेश सीमाओं पर घुसपैठ के अलावा मादक पदार्थों, मवेशियों, विभिन्न अन्य निषिद्ध पदार्थों की तस्करी अभी भी चल रही है। उनका कहना था कि सुरक्षाकर्मियों ने काफी हद तक इन गतिविधियों को सफलतापूर्वक नियंत्रित किया है।

त्रिपुरा सीमांत महानिरीक्षक सुमंत कुमार नाथ ने कहा कि बांग्लादेश के साथ राज्य की 856 किलोमीटर की सीमा में से 67 किलोमीटर के पैच अभी भी विभिन्न कारणों से बिना बाड़ के बने हुए हैं, और इन हिस्सों पर अगले साल तक बाड़ लगा दी जाएगी ।

आईपीएस अधिकारी द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल की तुलना में इस साल अवैध सीमा पार से घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी हैं । त्रिपुरा सीमांत में बीएसएफ ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने का प्रयास कर रहे 3000 घुसपैठियों को पकड़ा है ।

उन्होंने कहा कि इस साल करीब 130 करोड़ रुपये की ड्रग्स और निषिद्ध वस्तुएं जब्त की गई हैं । बीएसएफ मेघालय फ्रंटियर के प्रधान स्टाफ अधिकारी डी हाओकिप ने शिलांग में कहा कि मेघालय में बांग्लादेश के साथ 444.8 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बाड़ लगाने का काम अभी शुरू हो गया है।




बीएसएफ के महानिदेशक ने कहा कई स्थानों पर काम जारी है

मिजोरम और कछार सीमांत के साथ-साथ बीएसएफ ने इस साल म्यांमार के 78 भारतीयों, दस बांग्लादेशी नागरिकों और एक व्यक्ति को पकड़ा है। दूसरी ओर ,अवैध रूप से भारत में घुसपैठ करने वाले करीब 3000 बांग्लादेशी लोगों को सीमा सुरक्षा बल ने इस साल गिरफ्तार किया है।

वहीं, मवेशियों की तस्करी पर पाबंदी लगाई है जिसके चलते इस साल अक्टूबर तक 80 हजार मवेशियों की तस्करी हुई जबकि इससे पहले दो-तीन साल में यह आंकड़ा 1.7 लाख था ।

स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर वार्षिक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक पंकज कुमार सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी।

डीजी ने बताया, बीएसएफ इस वक़्त 193 बटालियन के साथ देश के बॉर्डर की रक्षा कर रहा है। भारत-बांग्लादेश बॉर्डर की सुरक्षा बीएसएफ के हाथों में है। बांग्लादेश सीमा के साथ भारत की 4100 किमी भूमि और 930 किमी नदी सीमा क्षेत्र लगा हुआ है।

यद्यपि हम म्यामांर बॉर्डर पर मौजूद नहीं हैं, लेकिन उन इलाकों से आने वाले रोहिंग्या और अवैध हथियारों पर हमारा ख़ुफ़िया तंत्र सक्रिय नजर रखता है।



More from HomeMore posts in Home »
More from उत्तर पूर्वMore posts in उत्तर पूर्व »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: