fbpx Press "Enter" to skip to content

नासा के बनाये वेंटिलेटर को एफडीए की मंजूरी

वाशिंगटनः नासा के बनाये वेंटिलेटर को अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने

कोरोना वायरस (कोविड-19) के मरीजों के इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है। नासा के

प्रशासक जिम ब्रिडेनस्टाइन ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ” एफडीए की

मंजूरी देना इस बात सबसे बेहतर उदाहरण है कि सरकार संकट के समय में क्या कर

सकती है। यह इस प्रक्रिया मंे एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा। यह वेंटिलेटर

अनगिनत उदारणों में एक है कि करदाता किस तरह से दशकों से अंतरिक्ष में कौशल,

विशेषज्ञता और ज्ञान को हासिल करने और मानवता को पहला स्थान दिलाने, पृथ्वी पर

जीवन को बेहतर बनाने वाली प्रगति में बदलाव लाने के लिए किये जा रहे प्रयासों में

निवेश कर सकता है। ” इस वेंटिलेटर में लगभग 80 भाग हैं और इसका सातवाँ हिस्से में

बड़े, अधिक जटिल मशीन हैं जो कई चिकित्सा उपयोगकर्ताओं के लिए उपयोग को ध्यान

में रख कर तैयार किया गया है। नासा ने इस संकट की घड़ी में कोरोना के ईलाज से जूझ

रहे कोरोना वॉरियर्स के लिए मास्क और ऑक्सीजन हुड भी तैयार किये हैं। जिनका

परीक्षण चल रहा है।

नासा के बनाये वेंटिलेटर में सब सहज सामान्य

नासा के वैज्ञानिकों ने अस्पतालों में वेंटिलटरों की कमी को देखते हुए इस उपकरण को

तैयार किया है। इसे बनाने में इस बात का खास ध्यान रखा गया है कि इसमें वह काम पूरा

हो, जो कोरोना के मरीज के लिए जरूरी है। इससे अस्पताल में पहले से मौजूद वेंटिलटरों

पर दबाव कम होगा। नासा के बनाये वेंटिलेटरों में उन तमाम उपकरणों का इस्तेमाल

किया गया है, जो आम वेंटिलटर में लगते हैं तथा पूरे देश में आसानी से उपब्ध हैं। इसका

असली मकसद पूरे देश में उपलब्ध उपकरणों और सामानों से ऐसे वेंटिलेटर स्थानीय स्तर

पर बनाय जा सकते हैं। ताकि जल्द से जल्द मरीजों को राहत मिल सके और अस्पताल में

पहले से मौजूद वेंटिलटरों पर कोरोना के मरीजों का अतिरिक्त बोझ पड़े बिना ही मरीजों

को सारी सुविधा मिल सके।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अमेरिकाMore posts in अमेरिका »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat