Press "Enter" to skip to content

नम आंखों से दिए माता रानी को विदाई शांतिपूर्ण के साथ सम्पन्न हुई







कुंडहित (जामताड़ा) नम आंखों से दिए माता रानी को विदाई शांतिपूर्ण के साथ सम्पन्न हुई कुंडहित

प्रखंड मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्र मे पांच दिवसीय दुगार्पूजा अर्चना धुमधाम व हर्षोल्लास व

शांतिपूर्ण के साथ सम्पन्न हुई। दुगार्पूजा को लेकर क्षेत्र मे सभी पूजा मंडपों में पांच दिन चहल पहल

रहे। दूर्गा पूजा को लेकर गाव मे उत्सव का माहौल देखा गया। अष्टमी एवं नवमी के दिन भक्तों ने

मंदिर मे बैठकर पूजा अर्चना तथा महाहबलि देखने के इंतेजार करते रहे। वही दशमी के दिन कलश

विसर्जन के साथ साथ लोगो का भीड़ मंदिरो मे लगने लगा । जानकारी के अनुसार कुंडहित एवं

बागडेहरी थाना क्षेत्र मे कुल 28 स्थानों मे मां दुर्गा की पूजा अर्चना किया जाता है। जहां दशमी के

दिन कुंडहित थाना क्षेंत्र के कुंडहित पुरातन थाना, माझपाड़ा, डुमरा, पालाजोडी, बनकाटी, गडजोडी,

खजुरी,बाबुपुर, नगरी, आमलादही, भंगाहिड सहित बागडेहरी थाना क्षेत्र मे सुद्राक्षीपुर, आमडुबी, एवं

सटकी पूजा कमिटि द्वारा प्रतिमा का बिसर्जन कर दिया गया शेष कुंडहित लोहारपाड़ा, बाबुपुर,

पालाजोडी एवं अम्बा के चार सहित बागडेहरी थाना क्षेत्र मे बागडेहरी के मुखार्जी टोला, राय टोला,

छोलाबेड़िया एवं मुड़ाबेडिया मे एक एक प्रतिमा का विसर्जन शनिवार की रात किया जायेगा।

नम आंखों से दुगार्पूजा पूजा सम्पन्न

नम आंखों से दुगार्पूजा को लेकर अंचलाधिकारी नित्यानद प्रसाद तथा कुंडहित थाना प्रभारी दीपक

कुमार ठाकुर एवं बागडेहरी थाना प्रभारी बिरजु कुमार साव द्वारा विभिन्न पूजा पंडालो मे जाकर

कमिटियो को दिशानिर्देश दिया तथा प्रतिमा विसर्जन पर शांति व्यवस्था बनाये रखने पर प्रेरित

किया गया।दशमी के दिन महिलाओ ने खुशी मे सिंदुर खेले:दुर्गा मंदिरों मे दशमी पूजा सम्पन्न होते

ही महिलाओं ने मॉ दुर्गा की चरण मे आलता एवं सिंदुर लगाकर मॉ को नम: आखों मे दिवाई दी तथा

आसछे बछर आबार होबे की उम्मिद को लेकर महिलाओ ने संदुर खेले। परम्परा के अनुसार अपने

पति की लम्बी आयु तथा परिवार मे सुखशांति, समृद्वि के लिये एक दुसरे को सिंदुर लगाकर रस्म

पुरी की ।



More from HomeMore posts in Home »
More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from जामताड़ाMore posts in जामताड़ा »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: