Press "Enter" to skip to content

फर्जी फोन कॉल की वजह से राकेश टिकैत नहीं गये यवतमाल




  • विशेष प्रतिनिधि

नागपुरः फर्जी फोन कॉल ने किसान नेता राकेश टिकैत का यवतमाल दौरा रद्द करा दिया।




संयुक्त किसान मोर्चा के नेता को आज ही यवतमाल में आयोजित किसान पंचायत में

भाग लेना था। उनके नहीं आने के बाद आयोजकों की तरफ से बताया गया है कि किसी ने

यवतमाल के एसपी का हवाला देकर उन्हें फोन किया और चेतावनी दी कि अगर वह यहां

आते हैं तो कोरोना गाइड लाइन के तहत उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारेंटीन कर दिया

जाएगा। इस फर्जी फोन की वजह से श्री टिकैत ने यवतमाल आने का अपना कार्यक्रम रद्द

कर दिया। यवतमाल के इस किसान पंचायत में एक लाख किसानो के आने का दावा किया

गया था। लेकिन बाद में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से बैठक की अनुमति

नहीं दी गयी। आयोजकों द्वारा सिर्फ पचास लोगों की बैठक का आवेदन भी अस्वीकृत कर

दिया गया। इस बीच आयोजक जब नागपुर रेलवे स्टेशन पर राकेश टिकैत का स्वागत

करने पहुंचे तो पता चला कि वह नहीं आये हैं। फोन पर संपर्क किये जाने पर उन्होंने कहा




कि उनके पास यवतमाल के एसपी का फोन आया था, जिसमें उन्हें 14 दिन क्वारेंटीन

करने की बात कही गयी थी। इसी वजह से उन्होंने अपना दौरा रद्द कर दिया।

फर्जी फोन कॉल करने वाले ने खुद को एसपी बताया था

श्री टिकैत ने कहा कि फोन करने वाले ने यह भी कहा था कि किसान पंचायत के

आयोजकों को भी इसकी जानकारी दे दी गयी थी। इसी वजह से उन्होंने अपनी तरफ से

आयोजकों को जानकारी देने की जरूरत नहीं समझी। श्री टिकैत ने आयोजकों से कहा कि

अगर उन्हें वहां चौदह दिनों तक रोक दिया जाता है कि दिल्ली की सीमा पर चल रहे

आंदोलन पर इसका गलत प्रभाव पड़ेगा। दूसरी तरफ जब आयोजकों ने वहां के एसपी

दिलीप भुजबल से बात की तो उन्होंने कहा कि उनकी तरफ से ऐसा कोई फोन नहीं किया

गया है । अब यह तय किया गया है कि किसान पंचायत की अनुमति मिलने के बाद राकेश

टिकैत गाजीपुर के धरना स्थल से ही यवतमाल में आने वाले किसानों को ऑनलाइन

संबोधित करेंगे



More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from महाराष्ट्रMore posts in महाराष्ट्र »

Be First to Comment

Leave a Reply