fbpx Press "Enter" to skip to content

आस्था और भक्ति का बेमिसाल कारनामा पेश किया धनंजय सिंह ने

  • 21 कलश को पेट पर रख 5 दिनों से आराधना में डूबा है मां दुर्गा का यह भक्त

ओरमांझीः आस्था और भक्ति का अनोखा मिशाल देखने को इन दिनों नवरात्र में मिल

रहा है। देश भर में जहां नवरात्रा को लेकर सराबोर है। जगह जगह लोग अपने -अपने

तरीको से पूजा पाठ करते देखे जा रहे है। कोई पूजा पंडालो में तो कोई अपने घर पर वही

कोरोना काल मे सरकार के दिये निर्देशो का पालन करते हुए लोग हुए पूजा पाठ कर रहे हैं।

वही दूरी ओर नवरात्र की इस पावन मौके पर ओरमांझी प्रखण्ड के रुक्का रोड स्थित

टीओपी व करमा पंचायत सचिवालय के समीप एक अलग ही नजारा देखा जा रहा है। जहाँ

नवरात्र के पहले दिन शनिवार से ही रुक्का निवासी सामदेव सिंह का 28 वर्षीय पुत्र

धनंजय सिंह अपने पेट पर 21 कलश लिये हुए भूखे प्यासे भक्ति में डूब कर लीन है।

जिसको देखने लोग दूर-दूर से आ रहे हैं और आश्चर्यचकित हो जा रहे हैं। धनंजय अपने ही

घर के बाहर पंडाल लगाकर पेट पर छोटे- बड़े 21 कलश को लेकर सिर्फ हवा के बल पर

जीवित है। श्रद्धा में डूबे युवक से बात करने पर बताया कि देश में कोरोना वायरस के संकट

से जूझ रही है। जिसको देखते हुए मैंने यह करना तय किया है, ताकि गांव व देश में शांति

और समृद्धि आए। मालूम हो कि धनंजय पिछले साल भी एक कलश को पेट पर रखकर 9

दिनों तक भूखे प्यासे नवरात्रा मनाया था। वही इस साल नवरात्र से 7 दिन पहले से ही

भूखे प्यासे रहने का आदत डालते हुए पूरे 9 दिनों तक सिर्फ हवा के बल पर लेटे रहने का

प्रण लिया है। धनंजय के पिता रामदेव सिंह व माता इस कार्य से काफी खुश हैं।

आस्था और भक्ति में धनंजय की मां का भी  सहयोग

धनंजय के माता ने बताया कि मेरा बेटा ने ऐसा करने का विचार बनाया तो एक बार तो मैं

डर गयी फिर सोचा कि जब मेरा बेटा पूरी तरह मन बना चुका है तो मैं कैसे मना कर

सकती हूं। मैं धनंजय के शरीर पर बर्फ को दिन भर में कई बार मलता रहता हूं ताकि मेरा

बेटा का शरीर सांस लेने आसानी रहे। धनंजय ने जो कार्य करके दिखाया है इससे लोग

प्रेरणा भी ले रहे हैं और आश्चर्यचकित हो रहे हैं कि इतना बड़ा काम बिना भूखे प्यासे कैसे

कर रहा है। यहां एक दिन तो लोग बिना खाए पिए नहीं रह सकते तो फिर लगातार 15

दिनों तक कैसे भूखे प्यासे रहेगा लेकिन यह आस्था का अहम सवाल है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: