Press "Enter" to skip to content

फेसबुक के पूर्व कर्मचारी ने ही खोल दी है कंपनी की पोल




मुनाफे के लिए घृणा फैलाने को नहीं रोकती है कंपनी
सिर्फ व्यापारिक लाभ के लिए फेसबुक सक्रिय
सीनेट में भी होगी इस विषय पर गंभीर चर्चा
घृणा ही नहीं झूठ भी फैलाती है यह कंपनी

वाशिंगटनः फेसबुक के पूर्व कर्मचारी ने ही फेसबुक पर घृणा फैलाने के कारोबार को बढ़ावा देने का गंभीर आरोप लगाया है। इस महिला ने पहली बार कैमरे के सामने आकर अपने आरोपों को पुख्ता किया है।




इसके पहले भी फ्रांसिस हुगैन नामक फेसबुक के पूर्व कर्मचारी इस महिला ने फेसबुक की गलत कारगुजारियों के संबंध में कई हजार पन्नों का दस्तावेज जारी कर दिया था।

सोशल मीडिया में इसकी वजह से भूचाल आ गया है और फेसबुक की हर गतिविधि को अब विकसित देशों में संदेह की नजरों से देखा जा रहा है।

इस मामले पर दुनिया भर में चर्चा फैलने के बाद रहस्यमय तरीके से फेसबुक और उससे संबंधित सारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म अचानक से बंद हो गये हैं। औपचारिक तौर पर इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गयी है। दूसरी तरफ साइबर सुरक्षा से जुड़े लोगों को आशंका है कि फेसबुक की पूर्व कर्मचारी के खुलासाे के बाद कंपनी अपने सर्वर से वह आंकड़े हटाना चाहती है, जो उसे अमेरिका में भारी संकट में डाल सकती है

37 वर्षीया हुगैन ने कहा कि वह वर्ष 2019 में फेसबुक की नौकरी पर आयी थी। वह इसके पहले गूगल सहित कई अन्य प्रमुख कंपनियो के साथ काम कर चुकी हैं।

फेसबुक पर उनकी जिम्मेदारी सोशल नेटवर्किंग पर होने वाले गलत आचरण पर नजर रखना भी था।




उन्होंने कहा कि वर्ष 2021 आते आते इस कंपनी के प्रति उनकी सोच बदल गयी और तमाम तथ्यों को देखने और समझने के बाद वह इस नतीजे पर पहुंची है कि यह कंपनी अपने व्यापारिक लाभ के लिए सब कुछ जानते हुए भी घृणा फैलाने का काम जारी रखती हैं।

उन्होंने टीवी के पर्दे पर आते हुए यह दावा किया कि उन्होंने इस बारे में जो दस्तावेज जारी किये हैं, उन्हें झूठ कोई नही प्रमाणित कर सकता है। इसलिए वह जो कुछ कह रही हैं, उसका खंडन भी कोई नहीं कर सकता।

फेसबुक की पूर्व कर्मचारी सीनेट में भी बयान देंगी

बता दें कि वह सीनेट की विशेष समिति के समक्ष भी पहली बार हाजिर होने वाली हैं। जिसमें फेसबुक के इसी अनैतिक आचरण पर चर्चा होने जा रही है। हुगैन के मुताबिक फेसबुक को अच्छी तरह यह पता होता है कि उसके प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर घृणा फैलाने का कारोबार चलता है।

इसे जानते हुए भी कंपनी अपने व्यापारिक लाभ के लिए ऐसे आचरणों पर रोक नहीं लगाती है। साथ ही कंपनी ने अपना मुनाफा बढ़ाने के लिए गलत सूचनाओं को भी भी प्रसारित करने की अनैतिक छूट दे रखी है।

फेसबुक ने इससे आम नागरिकों को होने वाले नुकसान का अंदाजा होने के बाद भी ऐसी गलतियों को दोहराने की छूट दे रखी है क्योंकि संबंधित पक्ष से उसे लाभ होता है। हुगौन द्वारा सार्वजनिक तौर पर ऐसा आरोप लगाने के बाद फेसबुक की तरफ से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है।



More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विश्वMore posts in विश्व »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.