fbpx Press "Enter" to skip to content

पूर्व गुप्तचर अधिकारी ने कहा सुशांत की मौत में अंडरवर्ल्ड का लिंक हो सकता है

  • अंडरवर्ल्ड की चाल है मुद्दे को भटकाते रहना

  • फिल्म जगत के लोग अपराधियों से डरते हैं

  • हो सकता है सुशांत का कोई कर्मचारी मिला हो

  • सुप्रीम कोर्ट के सीबीआई जांच के निर्देश के बाद बयान

विशेष प्रतिनिधि

नईदिल्लीः पूर्व गुप्तचर अधिकारी ने सुशांत की मौत से अंडरवर्ल्ड का संदेह जाहिर किया।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एक पूर्व गुप्तचर अधिकारी का बयान सबसे

अधिक गंभीरता से लिया गया है। जिस अधिकारी ने यह बात कही है, वह काफी दिनों तक

भारतीय विदेश गुप्तचर एजेंसी यानी रॉ के जिम्मेदार पदों पर रहे हैं। यह बयान रिसर्च एंड

एनालाइसिस विंग (रॉ) के पूर्व अधिकारी एनके सूद ने दिया है। उनका कहना है कि जिस

तरीके से इस पूरे मामले की दिशा को भटकाने की कोशिश हो रही है, उससे यह समझा जा

सकता है कि अंडरवर्ल्ड से भी इसके तार जुड़े हो सकते हैं। उनका यह बयान सुप्रीम कोर्ट के

उस फैसले के बाद आया है, जिसमें इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गयी है।

उक्त अधिकारी ने कहा कि इस मौत के साथ अंडरवर्ल्ड के अपराधियों का रिश्ता भी अगर

निकल आया तो कमसे कम उन्हें कोई आश्चर्य नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की जब सीबीआई जांच होगी तो सुशांत के साथ काम करने

वाले उनके कर्मचारियो की हरकतों की भी बारिक जांच होनी चाहिए। उनके मुताबिक

वित्तीय मामलों की अधिक चर्चा से भी जांच की दिशा भटक सकती है क्योंकि उत्तर तो

इस प्रश्न का तलाशा जाना है कि आखिर सुशांत सिंह राजपूत की मौत कैसे हुई थी। श्री

सूद ने कहा कि यह अंडरवर्ल्ड का प्रचलित तरीका है कि वे मामले को भटकाने के लिए नये

नये किस्से प्लांट करते हैं। इससे इतना अधिक विवाद हो जाता है कि मूल विषय से लोगों

का ध्यान हट जाए। ऐसा भी हो सकता है कि अंडरवर्ल्ड ने सुशांत के ही किसी कर्मचारी को

भय वश अथवा पैसे की लालच देकर यह काम करने के लिए तैयार कर लिया हो।

पूर्व गुप्तचर अधिकारी ने कहा हो सकता है अंदर का कोई मिला हो

साथ ही अगर कोई कर्मचारी इसमें शामिल था तो उसे यह आश्वासन भी दिया गया होगा

कि अदालती पेंच फंसने की स्थिति में वे उसका तथा उसके परिवार का पूरा ख्याल रखेंगे।

इस पूरे मामले को इधर उधर भटकाने के लिए भी हो सकता है कि सुशांत के बैंक खाते से

अनेक खातों में पैसों की लेन देन की गयी हो ताकि असली विषय की तरफ किसी जांच

अधिकारी का ध्यान नहीं जाए। उनके मुताबिक वैसे भी मुंबई में अंडरवर्ल्ड के आतंक का

एक माहौल तो है। खास कर फिल्मी जगत के लोग इन अपराधियों के दबाव में रहते हैं, यह

कोई गोपनीय बात नहीं है। ऐसे लोग बहुत कुछ जानने के बाद भी अपराधियों के खिलाफ

बोलने से बचते हैं।

भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के एक पूर्व अधिकारी द्वारा अचानक दिये गये इस बयान को

कई नजरिए से देखा जा रहा है। उक्त अधिकारी ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक अपनी

तरफ से कोई बात नहीं कही थी। जबकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबीआई जांच की अनुशंसा

को स्वीकार किये जाने पर अनेक लोगों ने इसका स्वागत किया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

2 Comments

Leave a Reply