Press "Enter" to skip to content

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री सहित 10 कांग्रेसी नेताओं ने थामा तृणमूल कांग्रेस का दामन




खेला होबे का गीत अब गोवा तक जा पहुंचा
भाजपा के खिलाफ एकजुट होना महत्वपूर्ण
टीएमसी के चार नेता गोवा दौरे पर गये हैं
अगले लोकसभा चुनाव की तैयारियों में टीएमसी
राष्ट्रीय खबर

कोलकाताः गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुइजिन्हो फेलेरिया सहित दस कांग्रेसी नेताओं ने आज कोलकाता में तृणमूल का दामन थाम लिया। इसके साथ ही पार्टी की तरफ से सौगत राय ने कहा कि टीएमसी के चार नेता गोवा गये हैं। उनकी मौजूदगी में गोवा में अन्य अनेक लोग तृणमूल कांग्रेस में योगदान करने वाले हैं।




वैसे गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री फेलेरिया के साथ दस नेताओं का कांग्रेस छोड़कर टीएमसी में आने के बाद गोवा में टीएमकी ताकत बढ़ी है, इस बात से अब इंकार नहीं किया जा सकता है। फेलेरियो वहां दो बार के मुख्यमंत्री रहे हैं।

टीएमसी में शामिल होने के लिए गोवा के नेताओं का यह दल कोलकाता आया था। यहां एक समारोह में उन्हें पार्टी का झंडा थमाया गया। समारोह में तृणमूल कांग्रेस की तरफ से सौगत राय के अलावा सुब्रत मुखर्जी और पार्टी के महासचिव अभिषेक बनर्जी भी मौजूद थे।

दूसरी तरफ टीएमसी की तरफ से सुखेंदु शेखर राय, डेरेक ओ ब्रायन, प्रसून बंदोपाध्याय और मनोज तिवारी को गोवा भेजा गया है। इन चार नेताओं की मौजूदगी में वहां अन्य लोग भी तृणमूल में शामिल होंगे।

इससे गोवा में अब निश्चित तौर पर तृणमूल कांग्रेस एक राजनीतिक ताकत के तौर पर स्थापित हो जाएगी। इसके पहले से ही टीएमसी ने असम और त्रिपुरा में अपने संगठन के विस्तार का कार्यक्रम जारी रखा है।

इसके तहत कांग्रेस की सांसद तथा महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सुस्मिता देव भी टीएमसी में शामिल हो चुकी हैं। टीएमसी में योगदान करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए फेलेरियो ने कहा कि इतने दिनों बाद ममता बनर्जी से मिलकर बहुत अच्छा लगा और दो दिन पूर्व मैंने विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद टीएमसी में योगदान किया है।




गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री ने इसे वक्त का फैसला बताया

देश के पश्चिमी इलाके में राजनीतिक जीवन प्रारंभ करने के बाद देश के पूर्वी प्रांत के एक ताकतवर संगठन के साथ जुड़कर अच्छा लग रहा है।

कांग्रेस में चालीस साल रहने के बाद अब वह टीएमसी में शामिल हो रहे हैं और अभी देश के जो हालात हैं, उसमें कांग्रेस से अलग हुए सभी दलों को एकजुट करना भी राष्ट्रीय जिम्मेदारी हैं।

श्री फेलेरियो ने कहा कि टीएमसी के अलावा एनसीपी, वाईएसआर कांग्रेस, इंदिरा कांग्रेस जैसे संगठनों को एकजुट करना भी वर्तमान में राष्ट्रीय जिम्मेदारी है।

गोवा की हालत के बारे में उन्होंने कहा कि वहां भी देश के अन्य इलाकों की तरह अर्थव्यवस्था ध्वस्त होती जा रही है। इससे स्पष्ट हो गया है कि 2024 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए तृणमूल कांग्रेस ने अलग राज्यो मे अपनी ताकत बढ़ाने का काम प्रारंभ कर दिया है।

इसके लिए खेला होबे का दायरा आगे बढ़ाने का ममता बनर्जी का एलान सही साबित हो रहा है। उन्होंने पहले ही यह स्पष्ट हो गया था कि भाजपा के खिलाफ पश्चिम बंगाल में जिस तरीके से खेला होबे गीत का असर हुआ था, उस प्रभाव को भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय राजनीति में इस्तेमाल करने का वक्त आ गया है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: