fbpx Press "Enter" to skip to content

राजधानी रांची में हॉट स्पॉट होने के बाद भी हरकतों से बाज नहीं आ रहे लोग

रांची: राजधानी रांची में पहली बार हॉट स्पॉट बने हिंदपीढ़ी के बाहर भी कोरोना संक्रमण

का मामला मिला है। राजधानी रांची में पूरे राज्य में सबसे ज्यादा 22 कोरोना संक्रमितों की पहचान

की जा चुकी है। इनमें से 21 मरीज हिंदपीढ़ी व एक बेड़ो का है। इसके बाद भी लोग समझने

को तैयार नहीं नजर आ रहे हैं। रविवार की सुबह भी कई क्षेत्रों में सब्जी खरीदारी के लिए

लोग आम दिनों की तरह सड़क पर निकल आए। सब्जी दुकानों में भी बिना मास्क व

सोशल डिस्टेंस पर ध्यान नहीं दिया लोगों ने और खरीदारी की। कांके रोड स्थित रॉक

गार्डेन के सामने लगे सब्जी बाजार में कुछ ऐसे ही हालात देखने को मिले। यह आदत

लोगों के बीच संक्रमण के खतरे को बढ़ा सकता है।वहीं, रांची नगर निगम ने रविवार को

शहर के कई क्षेत्रों मैं सैनिटाइजेशन कराने का अभियान शुरू कर दिया। इसके लिए फायर

बिग्रेड के बड़े वाहनों को सड़कों पर उतार दिया गया। 4000 लीटर क्षमता से लैश इस

दमकल में करीब 3500 लीटर एक परसेंट सोडियम हाइपोक्लोराइट कीटनाशक भरा जा

रहा है। इससे प्रत्येक घर में खिड़की- दरवाजे, बाग बगीचे, पेड़-पौधे, बिजली के पोल, घर में

लगे वाहन को सैनिटाइज किया जा रहा है। वहीं, कोरोना पॉजिटिव दंपती के परिवार का

सैंपल लेने शनिवार को पुलिस के साथ मेडिकल टीम आजाद बस्ती पहुंची तो लोगों ने

ताली बजाकर उनका स्वागत किया। इधर, कोरोना पॉजिटिव दंपती का 3 दिन का बच्चा

मां के पास रहेगा।

राजधानी रांची में संक्रमण के बीच हुए बच्चे के जन्म का स्वागत

शुक्रवार को हिंदपीढ़ी में मिले कोरोना पॉजिटिव पति-पत्नी को रिम्स के कोरोना सेंटर के

जनरल वार्ड में रखा गया है। तीन दिन का नवजात भी मां के पास ही है। कोरोना टास्क

फोर्स के टीम के सदस्य निशिथ एक्का ने बताया कि डब्ल्यूएचओ का निर्देश हैं कि

नवजात को मां के पास ही रखना है और वह मां का दूध ही पीएगा। बच्चा अभी महज तीन

दिन का है। ऐसे में उसका सैपल लेना हानिकारक हो सकता है। इसलिए कम से कम 15

दिन रुकना होगा।हिंदीपीढ़ी में अब तक 18 कोरोना संक्रमित सामने आ चुके हैं।

पुलिस सख्ती से करा रही लॉकडाउन का पालन

वहीं, लॉकडाउन को कड़ाई से लागू कराने के लिए हर एक इलाकों में पुलिस मुस्तैद है और

गंभीरता से आने-जाने वाले वाहनों की जांच पड़ताल कर रही है। दो पहिया वाहन पर दो

व्यक्ति के मूवमेंट पर फटकार भी लगाई जा रही है। वहीं, चार पहिया वाहनों में 2 से

अधिक लोग होने पर उन्हें वापस भेजा जा रहा है। हालांकि अल्बर्ट एक्का चौक, सुजाता

चौक के पास तैनात पुलिसकर्मियों से कई बार वाहन सवार उलझते भी दिखे । उसके

बावजूद पुलिस उन्हें डांट-फटकार कर वापस भेजने में जुटी है। इधर, रांची के बरियातू क्षेत्र

में कोरोनावायरस मरीज की मृत्यु होने के बाद राजभवन से बूटी मोड़ रोड पर भी पुलिस

की चौकसी बढ़ा दी गई है। करम टोली चौक से बरियातू रोड में अनावश्यक निकलने वालों

को वापस घर भेजा जा रहा है।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: