fbpx Press "Enter" to skip to content

सैयद सलमान नदवी ने शराबबंदी के फैसले को सही बताया




  • अंतर्राष्ट्रीय इस्लामी विद्वान से बात-चीत

  • पूरे देश में हर किस्म का नशा बंद होना चाहिए

  • देश के विकास के लिए भी सांप्रदायिक सदभाव चाहिए

  • नरेंद्र मोदी अब आध्यात्मिक जगत की तरफ बढ़ चले हैं

दीपक नौरंगी

भागलपुरः सैयद सलमान नदवी इस्लामी विधा के अंतर्राष्ट्रीय शिक्षाविद के तौर पर

अपनी अलग पहचान रखते हैं। पूरी दुनिया उनके इस गुण से वाकिफ है। वह अपने दो

दिवसीय दौरे पर भागलपुर आये थे। इसी दौरान उनसे कई मुद्दों पर विस्तार से बात-चीत

हुई। उन्होंने इस पर कई रोचक बातें भी बतायी।

वीडियो में देखिये पूरी बात चीत

यूपी के लखनऊ से आये श्री नदमी ने कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने

शराबबंद का बहुत अच्छा फैसला किया है। बात-चीत में उन्होंने कहा कि इस किस्म का

प्रतिबंध तो पूरे देश में हर किस्म के नशे के खिलाफ लगाया जाना चाहिए। इस बारे में वह

पहले भी नरेंद्र मोदी को पत्र लिख चुके हैं और फिर से आग्रह भी करने वाले हैं। गंभीर

विषयों पर चर्चा के केंद्र में मानवता कल्याण बोर्ड के संस्थापक ने सामाजिक समरसता

कायम रखने की दिशा में कई उल्लेखनीय प्रयास किये हैं। अपने काम के लक्ष्य और

जरूरत के बारे में भी उनका नजरिए पूरी तरह स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि तुलनात्मक तौर

पर देखने से तो नीतीश कुमार जी का शासन उत्तर प्रदेश में योगी जी के शासन से अच्छा

प्रतीत होता है। वैसे अपने काम के बारे में उन्होंने बताया कि फिलहाल वह सांप्रदायिक

सदभाव के जिस मिशन पर काम कर रहे हैं, उसका एक ही मक़सद है कि आपस में एकता

व अखंडता बनीं रहे जिससे मुल्क विकास की ओर अग्रसर होगा। उन्होंने कहा कि हमें

फिरकापस्ती को समाप्त करनी होगी इंसानियत को बनाए रखी है मानवता सबसे बड़ा

धर्म है। उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी का जो काम किया

है वह सबसे बड़ा फैसला है मैं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शराबबंदी के फैसले

उसकी प्रशंसा करता हूं। श्री नदवी इससे पहले देश के प्रसिद्ध मदरसा नदवातुल उल्मा

लखनऊ में 40 वर्षों तक शिक्षक के रूप में सेवा देने के बाद सेवानिवृत्त हुए हैं।

सैयद सलमान नदवी अब सेवानिवृत्त हुए हैं

संस्थापक मदरसा जामिया सैयद अहमद सहित संस्थापक डॉ मोहम्मद अली तिबिया

कॉलेज व अस्पताल मलिहाबाद लखनऊ ,संस्थापक आईटीआई, शरिया थाउट, लैंग्वेज

थाउट इस्लामिक थॉट एवं महिला कॉलेज ऑलमियत से जुड़े हुए हैं। उन्होंने इसी खास

बात चीत के दौरान कई उल्लेखनीय मुद्दों की तरफ भी इशारा किया और कहा कि उन्हें

ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब आध्यात्मिक जगत की तरफ बढ़ चले हैं और

इस स्थिति में पहुंचने वाले व्यक्ति के लिए इंसान और इंसान में कोई अंतर नहीं रह जाता

है। वह हर इंसान में भी ईश्वर को देखता है और ईश्वर की सेवा करने का भरसक प्रयास

करता है। उन्हें इस  बार श्री मोदी में कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है


 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from बयानMore posts in बयान »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: