fbpx

इमानूएल मैक्रों ने पिगासूस मामले में सुरक्षा परिषद की बैठक बुलायी

इमानूएल मैक्रों ने पिगासूस मामले में सुरक्षा परिषद की बैठक बुलायी
  • उनका नाम भी जासूसी मामले में आ चुका है

  • फ्रेंच सरकारी प्रवक्ता ने दी जानकारी

  • फ्रांस की सरकार इस पर काफी गंभीर

  • सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक है

पेरिसः इमानूएल मैक्रों ने भी पिगासूस जासूसी के मामले में सुरक्षा संबंधी एक उच्च

स्तरीय बैठक बुलायी है। गुरुवार को इस बैठक में खास तौर पर इजरायल की कंपनी

एनएसओ द्वारा तैयार साफ्टवेयर के जरिए होने वाली जासूसी पर ही विचार विमर्श होगा।

दरअसल एमनेस्टी इंटरनेशल द्वारा करायी जा रही खास फोरेंसिक ऑडिट में यह तथ्य

सामने आया है कि उनके मोबाइल पर भी इस साफ्टवेयर से अनधिकृत घुसपैठ हुई थी।

वैसे इस बारे में सूचना सार्वजनिक होने के तुरंत बाद एनएसओ कंपनी ने इसका खंडन भी

किया है। सरकारी प्रवक्ता ग्रैब्रिलयल अटल ने इस बारे में कहा कि इस विषय को सरकार

ने काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने साफ कर दिया कि कल की यह बैठक सिर्फ

पिगासूस की जासूसी के मुद्दे पर ही बुलायी गयी है। इस समस्या से कैसे निपटा जाए, इस

पर इस उच्च स्तरीय बैठक में चर्चा होगी।

फ्रांस के इस तेवर से इजरायल की कंपनी भी पशोपेश की स्थिति में है। दरअसल फ्रांस के

राष्ट्रपति के मोबाइल में पिगासूस के जरिए यह जासूसी मोरक्को से की गयी है। इस वजह

से ऐसे मामलों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सुरक्षा के लिहाज से काफी संवेदनशील मामला

समझा जा रहा है। इस बीच अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इजरायल के नये प्रधानमंत्री से भी इस

साफ्टवेयर के फिलहाल निर्यात पर रोक लगाने की मांग की वजह से मामला और पेचिदा

हो गया है। दरअसल किसी माध्यम से यह सूचना भी सामने आयी है कि ऐसे पचास हजार

फोन नंबर हैं, जिनपर इसी पिगासूस साफ्टवेयर के जरिए जासूसी की गयी है।

इमानूएल मैक्रों के अलावा भी कई प्रमुख लोगों के नाम

इनमें फ्रांस के राष्ट्रपति के अलावा कई अन्य राष्ट्राध्यक्ष, प्रमुख नेता और कूटनीतिक भी

शामिल हैं। दूसरी तरफ एक पूर्व अमेरिकी राजनयिक के मोबाइल फोन पर हुई जासूसी की

वजह से भी एनएसओ कंपनी का यह दावा गलत साबित हो गया है कि इस साफ्टवेयर की

मदद से अमेरिका के किसी नंबर पर जासूसी नहीं की जा सकती है। अमेरिका में भी इस

मुद्दे पर अब गरमी आने के संकेत मिल रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: