Press "Enter" to skip to content

बिजली विभाग की मनमानी से चुल्हापानी की जनता परेशान




लोहरदगाः बिजली विभाग की वजह से यहां के कुडू प्रखंड पंचायत सलगी गांव चुलहापानी के ग्रामीण जनता आज 4 साल से बिजली के लिए काफी परेशानी झेल रहे हैं। सरकार की ओर से बिजली 4 साल पहले चुल्हा पानी मे बिजली देने के लिए काफी परेशान थे।




आज यह देखने को मिल रहा है कि बिजली विभाग के द्वारा बिजली चूल्हा पानी तक पहुंचा दिया गया। लेकिन चुल्हा पानी के ग्रामीण जनता 4 साल से बिना बिजली के रह रहे हैं। 11,000 वॉल्ट का तार बीच मे ही दो तीन जगह गल कर कट के गिर गया

लेकिन चूल्हा पानी के ग्रामीण जनता अपना विचार विमर्श करते हुए वहां के सभी जनता एक आवेदन बनाकर बिजली विभाग लोहरदगा में जमा किया।

दिनांक 17/10/2019 को जो लोहरदगा बिजली ऑफिस के द्वारा रिसीविंग दिया गया है रिसीविंग को लेकर चूल्हा पानी के ग्रामीण जनता जब ऑफिस जाते हैं और कहते हैं की चुल्हा पानी का बिजली कब तक बनेगा।

ऑफिस के द्वारा कहा जाता है कि अभी वह नहीं बन पाएगा। हम लोग का पावर नहीं है। अब यह समझ में नहीं आ रहा है कि चुल्हा पानी के ग्रामीण जनता को इस बिजली को बनाने के लिए किस ऑफिस में कागजात जमा किया जाए। यह भी समझ में नहीं आ रहा कि किसके द्वारा बनेगा। ग्रामीण जनता विचार करके प्रेस रिपोर्टर को बुलाकर पेपर में छपाने का काम किया जा रहा है।




बिजली विभाग के स्थानीय अधिकारी हाथ खड़े करते हैं

ऑफिस में कहा जाता है कि हम लोगों का पावर नहीं है तो ऑफिस के ही द्वारा क्यों नहीं कहा जाता है कि किन के द्वारा यह बिजली बन पाएगा। यह भी जानकारी बिजली ऑफिस लोहरदगा के द्वारा नहीं दिया जाता है। 4 साल से चूल्हा पाने के ग्रामीण जनता बिना बिजली के अंधेरे में रह रहे हैं।

वहां के बाल बच्चे को पढ़ाई लिखाई में परेशानी है। इस तरह से उस जंगल पहाड़ के ऊपर बिजली के बिना काफी परेशानी जनता ओं को झेलना पड़ रहा है। अब चुल्हा पानी के ग्रामीण जनता सरकार से गुहार लगा रही है कि जितना जल्द हो बिजली को बनवाने का कृपा करें।

चुल्हा पानी की जनता यह भी कह रहे हैं कि बिजली चूल्हा पानी में आने के बाद केवल 8से 10 दिन मात्र यहां बिजली जला है। उसके बाद जो खराब है सो अभी तक खराब है और हम लोगों को पता नहीं है कि बिजली बिल भी हम लोग का आ सकता है।

आता होगा तो इस तरह हमें यदि अगर हम लोगों को बिजली नहीं घर में जला है तो बिजली बिल नहीं आना चाहिए। बिजली बिल यदि अगर आती है तो ऑफिस के द्वारा बिल भरा जाएगा। ग्रामीण जनता ओं का कहना है और इसके साथ किसको प्रखंड के सलैया गांव ढोला कटांत की भी वही स्थिति है। दोनों टोला मिलाकर वहां बिजली दिया गया है और दोनों टोला में बिल्कुल बिजली नहीं है।



More from लोहरदगाMore posts in लोहरदगा »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: