fbpx Press "Enter" to skip to content

हादसे का इंतजार कर रहा विद्युत विभाग जेई ने कहा मुझे जानकारी नही

प्रतिनिधि

अनगड़ा : हादसे का इंतजार में बिजली विभाग के लोग टूटे हुए उस खंभे को सुधार नहीं रहे हैं,

जिसमें बिजली संचालित हो रही है। प्रखंड के राजाडेरा और चमघटी के बीच पुरूलिया पथ के

किनारे बिजली का आधा टूटा खंभा किसी बड़े दुर्घटना को आमंत्रित कर रहा है। यहां टूटे हुए

खंभे पर बिजली के तार झूल रहे है। ग्रामीण कभी भी हादसे का शिकार हो सकते हैं। ग्रामीणों

द्वारा पिछले एक महीने से मौखिक रूप से कई बार विद्युत विभाग के अधिकारियों को इस

समस्या से अवगत कराया गया है। लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हो सका है।

विभाग की अनदेखी का खामियाजा आमजन का भुगतना पड़ रहा है। इससे पहले भी कई बार

विभाग की लापरवाही की वजह से क्षेत्र में बड़े हादसे हो चुके हैं। बावजूद इसके विभाग के

कर्मचारी अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ग्रामीणों की शिकायत है कि इसके पहले भी

बिजली विभाग को समस्याओं की जानकारी देने के बाद भी वे समय पर उनका निराकरण नहीं

करते हैं। हादसे की प्रतीक्षा में बैठे रहने वाले बिजली कर्मियों की इन्हीं हरकतों की वजह से

स्थानीय जनता काफी नाराज हैं।

हादसे का इंतजार के पहले ही काम हो तो कोई बात है

समाजसेवी नारायण बेदिया व उमेश चौधरी ने बताया की समस्या के बारे में कई बार बिजली

विभाग के अधिकारी को मौखिक तौर पर एवं मोबाइल फोन के माध्यम से सम्पर्क कर मामला

की जानकारी दी गयी। लेकिन किसी ने उनकी समस्या पर ध्यान नहीं दिया। ऐसा प्रतीत होता

है, मानो विद्युत विभाग किसी बड़े हादसे के इंतजार में।

क्या कहते है जेई – विद्युत विभाग के जेई अमित कुमार ने बताया कि उन्हें इसकी जानकारी

नहीं है। यदि ऐसा है तो उसे दुरुस्त किया जाएगा। ग्रामीणों को घबराने की जरूरत नहीं है। बहुत

जल्द समस्या का निदान कर लिया जाएगा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »
More from हादसाMore posts in हादसा »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!