fbpx Press "Enter" to skip to content

बिजली के तार में की चपेट में आने से 40 वर्षीय मंगल उरांव की मौत

  • संवाददाता

बेड़ो: बिजली के तार में करंट प्रवाहित हो रहा था। उसी तार की चपेट में बेड़ो प्रखंड अंतर्गत

घाघरा पंचायत के सिझुआ गांव के एक 40 वर्षीय व्यक्ति मंगल उरांव पिता नंदकिशोर

उरांव की मौत हो गई। घटना के बाद गांव के लोगों में बिजली करंट की घटना को लेकर

आक्रोश व्याप्त है। घटना के बाद सिझुआ गांव के युवकों ने आनन फानन में इलाज के

लिए मंगल उरांव को गांव के अन्य लोगों द्वारा बेड़ो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया

गया। जहां डॉक्टर ने मंगल उरांव का इलाज करते हुए उसे मृत घोषित कर दिया।

 करंट की चपेट में आने से मंगल उरांव की हुई मौत के बाद मिली जानकारी के अनुसार

मंगल उरांव शनिवार कि सुबह करीब 9:00 बजे के आसपास मछली मारने को लेकर गांव

के ही गाढ़ा दोन तालाब के आसपास गया था। इसी दौरान खेतों में सिंचाई के लिए बिछाए

गए चाइनीज वाइट तार की चपेट में आने से उसकी घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो

गई।

बिजली के तार  खेतों में सिंचाई के लिए बिछाए गए थे

घटना के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में घटना की जानकारी देते हुए मृतक मंगल

उरांव के भाई देवानंद उरांव ने बताया कि मंगल उरांव सिझुआ गाढ़ा दोन तालाब के समीप

मछली पकड़ने के लिए गया था। वही तालाब के किनारे विद्युत प्रवाहित नंगा तार बिछा

हुआ है। हो सकता है बिजली के तार की चपेट में आने से हो सके मंगल की मौत हो गई हो।

मंगल उरांव मूल रूप से अपने गांव में ही खेती बारी कर अपना घर गृहस्थी चलाते थे। वही

उनके मौत हो जाने से उनकी पत्नी सरिता देवी, 12 वर्षीय पुत्र आशीष उरांव व 7 वर्षीय पुत्र

आशु उरांव समेत पूरा भरा पूरा परिवार का रो-रोकर हाल बेहाल है । पूरे परिवार के समक्ष

मंगल उरांव के मौत से एक बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई है। अतः इस घटना के पूर्व

लगभग 20 दिनों पहले घाघरा के ही बरटोली निवासी 50 वर्षीय छेदु मुंडा पिता स्वर्गीय

ढिबू मुंडा की सिंचाई के लिए लगाए हैं बिजली प्रभावित तार के चपेट में आने से मौत हो

गई थी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from हादसाMore posts in हादसा »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!