fbpx Press "Enter" to skip to content

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव 27 मार्च से, चुनाव परिणाम 2 मई को

  • पश्चिम बंगाल पर रहेगी सभी की नजर

  • केरल में सत्ता छीनने की कोशिश में भाजपा

  • तमिलनाडू में दोनों राष्ट्रीय दलों का आधार कम

राष्ट्रीय खबर

नईदिल्लीः पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के कार्यक्रमों का एलान आज कर दिया गया

है। निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी

में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। इन चार राज्यों व केंद्र शासित

पुडुचेरी में 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच अलग-अलग चरणों में मतदान संपन्न होगा। मतों

की गिनती दो मई को होगी। चुनावी तिथियों की घोषणा के साथ ही सभी पांच राज्यों यानी

इन चुनावी राज्यों में आचार संहिता लागू हो गई। पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में जबकि

असम में तीन चरणों में मतदान संपन्न होगा। तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में एक

चरण में छह अप्रैल को मतदान होगा। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने चुनावी

तारीखों का ऐलान करते हुए कहा कि चार राज्यों व केंद्र शासित पुडुचेरी को मिलाकर कुल

824 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा और इस दौरान कुल 18.68 करोड़ मतदाता 2.7

लाख मतदान केंद्रों पर मतदान करने के पात्र होंगे। देश के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील

अरोड़ा ने शुक्रवार शाम विज्ञान भवन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस कर तारीखों की घोषणा

की। इन पांच राज्यों पश्चिम बंगाल भी शामिल है जहां आठ चरणों में चुनाव होने वाले हैं।

वोटों की गिनती 2 मई को होगी।

श्री अरोरा ने बताया कि पुदुचेरी में उम्मीदवारों को अधिकतम 22 लाख रुपये खर्च करने

की इजाजत होगी, बाकी 4 राज्यों में 38 लाख रुपये की अधिकतम सीमा होगी। सभी

पोलिंग स्टेशनों पर पीने के पानी, बिजली, वेटिंग एरिया, सैनिटाइजर, मास्क, सोप वाटर,

वील चेयर आदि की व्यवस्था की जाएगी।

पांच राज्यों में विधानसभा का कार्यकाल भी खत्म हो रहा है

24 मई 2021 को तमिलनाडु में विधानसभा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। पश्चिम

बंगाल में 30 मई को विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है। असम में 31 मई को

विधानसभा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। केरल विधानसभा का कार्यकाल 1 जून को

खत्म हो रहा है। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि उम्मीदवारों को समेत केवल 5 लोगों के

साथ घर-घर जाकर चुनाव प्रचार करने की अनुमति होगी। विधानसभा चुनावों के दौरान

पर्याप्त मात्रा में केंद्रीय सुरक्षाबलों को इन पांच राज्यों में तैनात किया जाएगा।

संवेदनशील बूथों की पहचान कर ली गयी। सभी चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण किया

जायेगा। असम में इस बार 33 हजार से ज्यादा पोलिंग स्टेशन होंगे, तमिलनाडु में 88

हजार से ज्यादा पोलिंग स्टेशन होंगे। पश्चिम बंगाल में 1 लाख 1 हजार से ज्यादा पोलिंग

स्टेशन होंगे। केरल में 40 हजार से ज्यादा पोलिंग बूथ होंगे। पुदुचेरी 1500 से ज्यादा

पोलिंग बूथ होंगे। कुल 824 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा, हर जगह मतदान केंद्र

ग्राउंड फ्लोर पर होगा, इससे कोई समझौता नहीं होगा। श्री आरोरा ने कहा कि उनलोगों ने

इन पांचों राज्यों में राजनीतिक पार्टियों, चुनाव अधिकारियों से बात की। असम के बाद

चुनाव आयोग की टीम ने पश्चिम बंगाल का दौरा किया।

इन राज्यों में किस चरण की कब होगी वोटिंग

पश्चिम बंगाल

पहला चरण – 27 मार्च
दूसरा चरण – 1 अप्रैल
तीसरा चरण – 6 अप्रैल
चौथा चरण – 10 अप्रैल
पाँचवां चरण – 17 अप्रैल
छठा चरण – 22 अप्रैल
सातवां चरण – 26 अप्रैल
आठवां चरण – 29 अप्रैल

अन्य राज्यों में कब-कब होगी वोटिंग

असम – पहला फेज की वोटिंग 27 मार्च, दूसरा फेज की 1 अप्रैल को और तीसरे फेज की वोटिंग 6 अप्रैल को होगी।

केरल – 6 अप्रैल को वोटिंग। मल्लपुरम लोकसभा सीट का चुनाव भी साथ होगा।

तमिलनाडु – 6 अप्रैल को वोटिंग। कन्याकुमारी लोकसभा सीट का चुनाव भी साथ होगा।

पुडुचेरी – 6 अप्रैल को वोटिंग।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from देशMore posts in देश »

2 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: