fbpx Press "Enter" to skip to content

आठ संक्रमित रोगियों का सीसीएल गांधीनगर में चल रहा उपचार

रांची : आठ संक्रमित रोगियों (कोविड-19) का सीसीएल, गांधीनगर केंद्रीय अस्पताल,

रांची में उपचार चल रहा है। सभी रोगियों को सोमवार शाम को भर्ती कराया गया है।

उपायुक्त महिमापत रे एवं एस एस पी, रांची अनीश गुप्ता ने गांधीनगर स्थित सीसीएल,

गांधीनगर केंद्रीय अस्पताल का निरिक्षण किया, जिसे कोविड-19 अस्पताल बनाया गया

है। डॉक्टरों को संबोधित करते हुए उपायुक्त श्री महिमापत रे ने कहा कि इस अस्पताल में

कोविंद-19 मरीजों के एंट्री हेतु अलग मार्ग होगा तथा डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ का

प्रवेश मार्ग भी अलग निर्धारित किया जायेगा। किसी भी कीमत पर, रोगियों के उपचार के

दौरान कोई अन्य व्यक्ति संक्रमित न हो । उन्होने सभी चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल

स्टाफ को अपनी मेडिकल सुरक्षा का विशेष ध्यान रखने का निर्देश दिया। गांधीनगर

अस्पताल सहित सीसीएल के अन्य तीन केंद्रीय अस्पताल, झारखंड के कोरोना संक्रमित

से सम्बंधित मामलों से निपटने के लिए तैयार हैं। सीसीएल के कोविड-19 चार केन्‍द्रीय

अस्पतालों में ऑक्सिजन सपोर्ट बेड, लाइफ सपोर्ट के साथ एम्बुलेंस, चौबीसों घंटे पर्याप्त

ऑक्सिजन सपोर्ट एवं अन्य सुविधायें सुनिश्चित की गयी हैं। कोल इंडिया की सहायक

कंपनी सीसीएल कोविड-19 की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना

करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रहा है और यह यह सुनिश्चित कर रहा है की

कोरोना वारियर्स किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहें। सरकार और

सभी स्टेकहोल्डर्स के सहयोग से, सीसीएल, अपने अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री गोपाल

सिंह के कुशल नेतृत्व में कोविड-19 से उत्पन्न चुनौतियों का सामना करने के लिए

चिकित्सा सेवाओं के साथ-साथ विभिन्न माध्यम से जन सेवा कर रहा है।

आठ से ज्यादा की भी है सीसीएल में तैयारी

देश में कोरोना का प्रकोप बढ़ते ही सीसीएल की चिकित्सीय टीम सीएमडी श्री गोपाल सिंह

की पहल पर अपनी तैयारियां मार्च माह से ही प्रारंभ कर दी थी। सीएमडी ने चिकित्सकों

एवं स्वास्थ्य कर्मियों (कोरोना वारियर्स) के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा की आज

मानवजाति के कल्याण के लिए जो योगदान कर रहें है उसकी जितनी भी सराहना की

जाय वो कम है यह भगवान के रूप में कोविड-19 रोगियों के इलाज और अनगिनत जीवन

बचाने के लिए पूरे विश्व में दिन-रात काम कर रहे हैं। उन्होंने सभी से सरकार द्वारा

समय-समय पर जारी की गई निर्देश का पालन करने की अपील की और कहा कि कोरोना

से डरने की नहीं बल्कि सावधान रहने की आवश्यकता है। सीएमडी श्री सिंह ने कहा कि

सीसीएल के सेवानिवृत्त डॉक्टरों की मदद से एक सलाहकार बोर्ड का गठन किया गया है

और वे कोविड-19 के संबंध में सलाह दे रहे हैं ताकि हम सामूहिक रूप से महामारी से लड़

सकें और सीसीएल की तैयारी को और सुदृढ कर सके। सीएमएस, सीसीएल डॉ सी पी धाम

के अनुसार कंपनी के डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को कोरोनावायरस के संदिग्ध

रोगियों को इलाज और देखभाल के लिए प्रशिक्षित किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि

डॉक्टरों को सरकार के अन्य परामर्शों का पालन करने के अलावा घातक वायरस से

संक्रमित रोगियों का इलाज करते हुए खुद को बचाने के लिए सुरक्षात्मक गियर (प्रोटेक्‍टीव

गियर) पहनने की आवश्यकता है। ज्ञातव्‍य हो कि सीसीएल ने अबतक अपने कमांड क्षेत्रों

में लगभग 1,32,245 मास्क वितरित किए हैं। कंपनी ने डॉक्टरों और पैरामेडिक्स के लिए

लगभग 3100 पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (पीपीई) की भी खरीद की है और बढ़ते

कोरोना प्रकोप को देखते हुए लगभग 2000 पीपीई की खरीद की प्रक्रिया चल रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from देशMore posts in देश »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »
More from विज्ञानMore posts in विज्ञान »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!