fbpx Press "Enter" to skip to content

पूर्व रेलवे के जीएम मनोज जोशी ने भागलपुर स्टेशन का किया निरीक्षण, कहा

  • ट्रेनों की गति बढ़ाने का काम किया जा रहा है

  • रेलवे ट्रैक पर बम से इंकार कर रहे थे डीआरएम

  • वार्षिक निरीक्षण के तहत यहां पहुंचे थे श्री जोशी

  • उत्कृष्ट सेवा के लिए कर्मचारियों को ईनाम भी दिया

दीपक नौरंगी

भागलपुर: पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक मनोज जोशी ने आज भागलपुर स्टेशन का वार्षिक

निरीक्षण किया। उन्होंने इस दौरान पत्रकारों के अलावा विभिन्न संगठनों के लोगों से भी

मुलाकात की।  सांप्रदायिक दृष्टिकोण से बिहार का सबसे संवेदनशील भागलपुर रेलवे

स्टेशन पर चारों तरफ से खुला हुआ है चारदीवारी नहीं की गई है। पूर्व रेलवे के जीएम के

साथ भागलपुर दौरे पर आए डीआरएम ने कहा कि बम स्टेशन के रेलवे ट्रैक बम नहीं मिला

है स्टेशन से बाहर बम मिला है। तब प्रेस वार्ता मौजूद सभी पत्रकारों ने कहा कि रेलवे ट्रैक

बम बरामद हुआ है। तब जीएम और डीआरएम ने इस बात पर फिर चुप्पी साध ली कई

लोगों का यह भी मानना है कि रेलवे ट्रैक पर बम मिलने के मामले को रेल प्रशासन हल्के

में निपटाने की तैयारी चल रही है। उधर निरीक्षण के बाद पूर्व रेलवे के जीएम ने कहा ट्रेन

की गति बढ़ाने पर कार्य किया जा रहा है। शीघ्र ही सभी ट्रेनों की गति में बदलाव देखने को

मिलेगा और रंनिंग टाईम में कमी आएगी। भागलपुर से राजधानी चलाए जाने के सवाल

पर उन्होंने कहा यह फैसला रेलवे मंत्रालय का है। उन्होंने कहा कि मालदा डीविजन का

भागलपुर स्टेशन सबसे बेहतर होगा।

वीडियो में देख लीजिए पूरी रिपोर्ट

उन्होंने कहा कि जमालपुर-रतनपुर के बीच डबलिंग का कार्य कुछ बचा है उसे मई तक पूरा

करने का निर्देश दिया गया है। मोबाइल आधारित शिकायत निवारण प्रणाली का उद्घाटन

पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक मनोज जोशी पूर्व रेलवे के मालदा डिवीजन के किउल -भागलपुर

खंड का वार्षिक निरीक्षण किया। उन्होंने कोचिंग डिपो का निरीक्षण किया और फील्ड

स्टाफ के साथ बातचीत की। महाप्रबंधक ने सिग्नल मैन स्पेशल ट्रेन के गार्ड

ड्राइवर,सीनियर डी एम आई एवं टीआई को बेहतर कार्य करने पर राशि देकर पुरस्कृत

किया किया।

इस अवसर पर नागरिक सेवा समिति के अध्यक्ष रिजवान खान ने भागलपुर स्टेशन पर

यात्री सुविधा बढ़ाने एवं दक्षिण क्षेत्र में में निकासी मार्ग और टिकट काउंटर शुरू करने

आदि को लेकर महाप्रबंधक कोमांग पत्र दिया जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रवेज़ जमाल,

बिपिन बिहारी भागलपुर में डीआरएम ऑफिस खोलने सहित कई मांगों को रखा।जीएम

निरीक्षण के दौरान मालदा मंडल के डीआरएम यतीन्द्र कुमार, रेल आईजी अंबिकानाथ

मिश्र, एसएस एस. कुमार, सीवाईएम प्रमोद कुमार, आरपीएफ इंस्पेक्टर अनिल कुमार

सहित मंडल के ब्रांच ऑफिसर मौजूद थे।

पूर्व रेलवे के जीएम से चैंबर अध्यक्ष का मिलना सुर्खियों में 

जीएम के आने से कुछ देर पहले भागलपुर चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष अशोक भिवानी

वाला अपने मीडिया प्रभारी अभिषेक जैन और और कौशल जी जीएम से मिलने पहुंचे तो

रेलवे अधिकारियों में यह बात काफी सुर्खियों में रही कि एकदम साधारण तरीके से चेंबर

ऑफ कॉमर्स का अध्यक्ष इस तरह से जीएम और डीआरएम से मिलने तो नहीं आएगा।

इससे पहले चेंबर ऑफ कॉमर्स के कई अध्यक्ष जितने भी हुए वह टाई और सूट बूट में आते

थे लेकिन यह साधारण सा दिखने वाला व्यक्ति चेंबर ऑफ कॉमर्स का अध्यक्ष हो सकता

है? इस बात पर सभी को आश्चर्य भी हुआ लेकिन चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष अशोक

भिवानीवाला के बारे में यह चर्चा आम है कि वह अभी तक जितने भी चेंबर के अध्यक्ष हुए

उससे सबसे अलग हटकर और सीधे साधे हैं। चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष अशोक

भिवानी वाला और मीडिया प्रभारी अभिषेक जैन, श्रवन बाजोरिया, आशीष सर्राफ, कौशल

जी ने मिलकर जीएम और डीआरएम को एक बुके, मोमेंटो, अंग वस्त्र और चेंबर की डायरी

देकर सम्मानित किया। फिर भागलपुर सिल्क सिटी के व्यापारियों की तरफ से चेंबर के

अध्यक्ष और सभी सदस्यों ने कई मांगों को रखा। जिसे जीएम और डीआरएम ने बड़ी

शालीनता से सुना। पूर्व रेलवे के जीएम ने कहा की जहां तक होगा हम आपकी मांगे पूरी

करने की कोशिश करेंगे।

रेलवे को करोड़ों का नुकसान, जंग खा रही है सीटिंग चेयर

लगभग एक साल पहले लाखों लाखों रुपए लागत की सीटिंग चेयर लाया गया था

भागलपुर स्टेशन पर चारों तरफ सिटिंग चेयर को लगा दिया गया लेकिन अन्य स्टेशन

जैसे टीकानी,धोनी, बाराहाट, मुरहरा, बाँका जैसे अन्य स्टेशनों पर भेजे गए सीटिंग चेयर

जैसे-तैसे एक जगह पर रख दिया गया है। इस पर सवाल किया गया तो डीआरएम ने कहा

कि सभी सीटिंग चेयर जल्दी लगा दी जाएगी।

स्टेशन के अधिकांश सीसीटीवी कैमरे खराब

मालदा डिविजन में ही नहीं पूरे बिहार में भागलपुर स्टेशन एक अति संवेदनशील स्टेशन

माना जाता है ऐसी स्थिति में रेल प्रशासन द्वारा आज भी यहां सिर्फ 16 कैमरा लगाया

गया है जबकि स्टेशन का अधिकांश हिस्सा सीसीटीवी फुटेज के अंतर्गत नहीं आता है।

तीन साल पहले 54 कैमरा लगाने की बात कही गई थी एक साल पहले 114 कैमरा लगाने

के लिए संबंधित विभागों द्वारा स्टेशन का सर्वे किया गया था लेकिन उसका भी अता पता

नहीं है ऐसी स्थिति में रेल प्रशासन द्वारा भागलपुर स्टेशन की सुरक्षा सही से नहीं हो पा

रही है। इस संबंध में जब संवाददाता ने जीएम मनोज जोशी से सवाल किया तो उन्होंने

कहा कि नहीं सीसीटीवी कैमरा जल्द ही पूरे लग जाएंगे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: