fbpx Press "Enter" to skip to content

दुमका उपचुनाव यानी हेमंत वर्सेज बाबूलाल मरांडी की टक्कर

  • भाजपा के दुमका जिलाध्यक्ष का मनोनयन रूका

  • भाजपा के दिग्गजों का कैंप करने की योजना

  • सरकार और विपक्ष की पहली जोर आजमाइश

  • तो एक ही तुरूप का इक्का बाबूलाल मरांडी

उदय चौहान

रांची : दुमका उपचुनाव को झारखंड में सरकार वनाम भाजपा की पहली टक्कर

के तौर पर आंका जा रहा है। कोरोना संकट के बावजूद राजनीति अपनी गति से

चलने लगी है। दुमका उपचुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों की सरगर्मी तेज

हो गयी है। हालांकि, उपचुनाव को लेकर अभी आयोग ने अधिसूचना जारी नहीं

की है। बावजूद इसके प्रमुख विपक्षी दल भाजपा दुमका उपचुनाव में भगवा

परचम लहराने के लिये अपने तमाम राजनीतिक अस्त्रों का इस्तेमाल करने को

बेचैन हो गयी है। दीपक प्रकाश के टीम की घोषणा के बाद अब संगठन का ध्यान

संथाल की ओर गया है। यही कारण है कि दीपक प्रकाश अपने लाव-लश्कर के

साथ दुमका के लिये बुधवार की सुबह रवाना हो रहे हैं। भाजपा विधायक दल के

नेता बाबूलाल मरांडी व संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह भी दुमका में कैम्प करने

वाले हैं। दरअसल, हेमंत सरकार के छह माह के कार्यकाल के बाद संथालपरगना

में पक्ष-विपक्ष की जोर आजमाइश दुमका उपचुनाव में होना तय है। इसके लिये

दोनों ओर से तैयारियां तेज कर दी है।

राजनीतिक प्रेक्षकों का मानना है कि सीएम हेमंत सोरेने के छोड़े गये सीट के

कारण दुमका उपचुनाव काफी हॉट है। भाजपा का शीर्ष नेतृत्व इस उपचुनाव में

बाबूलाल मरांडी की साख को भी तौलना चाह रहा है। श्री मरांडी के दम पर

भाजपा को दुमका उपचुनाव में फतह हासिल करने की उम्मीदें बढ़ गयी है। साथ

ही, संगठन के जमीनी कार्यकर्ताओं क ो हेमंत सरकार की नाकामी को लेकर

माहौल बनाने की बात कही जा रही है। इसमें पार्टी के अनुषंगी इकाईयों के

कार्यकर्ताओं को अभी से झोंक दिया गया है।

दुमका उपचुनाव में बाबूलाल को तौलेगी भाजपा

झामुमो ने साफ किया है कि दुमका के नागरिकों को अधिक दिनों तक

प्रतिनिधित्व से वंचित नहीं किया जा सकता है। हेमंत सोरेने के छोड़ने से रिक्त

हुये सीट पर झामुमो का स्वाभावित दावा बनता भी है। शिबू सोरेन के जमाने से

दुमका की धरती पर झामुमो का झंडा लहराता रहा है। वर्ष 2014 के चुनाव में यहां

से भाजपा की डॉ लुइस मरांडी ने चुनाव जीता और राज्य में मंत्री का पद पायी

थी। लेकिन, वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में हेमंत सोरेन ने डॉ मरांडी को

करारी शिकस्त देकर फिर से झामुमो का कब्जा जमाया। अब, फिर से 

उपचुनाव में भाजपा व झामुमो ही आमने-सामने होंगे। ऐसे में, भाजपा के पास

संथाल में पार्टी का खेवनखार के रूप में बाबूलाल मरांडी को देखा जा रहा है। वहीं,

झामुमो की ओर से सीएम हेमंत सोरेन चुनावी दंगल में दम लगायेंगे। मतलब

साफ है कि दुमका उपचुनाव में हेमंत वर्सेस बाबूलाल की जंग होनी है और इस

उपचुनाव परिणाम से दोनों दिग्गजों के आगे की राजनीतिक पटकथा लिखी जा

सकेगी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दुमकाMore posts in दुमका »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!