fbpx Press "Enter" to skip to content

चमोली हादसे में लापता लोगों के परिजनों से मिले डॉ उरांव

रांचीः चमोली हादसे में लोहरदगा जिला के कई लोग लापता हो गये हैं। ग्लेशियर टूटने के

दौरान यह सभी वहां काम कर रहे थे। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह राज्य

के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव चमोली हादसे के बाद लोहरदगा जिले

के रहने वाले नौ लापता लोगों के परिजनों से रविवार को उनके घर मिलने पहुंचे। डॉ

रामेश्वर उरांव ने इससे पहले भी चमोली हादसे में लापता लोगों को खोजने के लिए आपदा

प्रबंधन विभाग के सचिव को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया था और उत्तराखंड सरकार से

संपर्क स्थापित कर सभी की सकुशल वापसी सुनिश्चित कराने की दिशा में आवश्यक

पहल का निर्देश दिया था। डॉ उरांव आज भंडरा प्रखंड के बरहेट गांव पहुंचे, इसी गांव के 9

लोग मजदूरी करने के लिए चमोली जिला स्थित एनटीपीसी के हाईड्रोप्रोजेक्ट तपोवन में

काम करने गये थे। इन 9 लोगों में से किसी भी व्यक्ति से अब तक परिजनों का संपर्क नहीं

हो पाया है, जिससे उनकी मुश्किलें बढ़ गयी है। मंत्री रामेश्वर उरांव ने परिजनों को आर्थिक

सहायता देने के साथ ही यह भी भरोसा दिलाया कि आगे भी जो भी सहयोग की जरुरत की

जरुरत पड़ेगी, उसे पूरा करने के लिए वे अपने स्तर से हरसंभव कोशिश करेंगे

वहां लापता लोगो में नौ लोग लोहरदगा इलाके के निवासी

किस्को पंचायत समिति के सदस्य अनमोल तिर्की ने बताया कि 9 लापता लोगों में

ज्योतिष बाखला, मंजनू बाखला, उर्बुनुष बाखला, सुनील बाखला, नेम्हस बाखला, रवींद्र

उरांव, दीपक कुजूर, विक्की भगत और प्रेम उरांव शामिल है। इसमें से दो युवक सगे भाई

है। लापता सभी लोगों के परिजनों एवं बरहेट गांव के लोगों के साथ सामूहिक बैठक कर डा

रामेश्वर उराँव ने सबको ढांढस बंधाया एवं हर संभव सहायता करने का भरोसा दिलाया।

चमोली हादसे के परिवारोंसे मिले फिर नई योजना की नींव रखी

झारखंड के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने अपने विधानसभा क्षेत्र

लोहरदगा के अति नक्सल प्रभावित पेशरार इलाके में 200 एकड़ भूमि में नाशपाति

लगाकर किसानों की आय समृद्धि योजना की शुरुआत की।इस मौके पर राज्यसभा सांसद

धीरज प्रसाद साहू भी मौजूद थे।

लोहरदगा के पेशरार प्रखंड अंतर्गत पुदांग गांव में करीब 200 एकड़ भूमि पर नशपति की

खेती को लेकर 32 हजार पौधे लगाने के अभियान की शुरुआत डॉ रामेश्वर उरांव ने पौधा

रोपण कर किया। इलाके में नाशपाति की खेती को लेकर पूर्व में रिसर्च भी कराया गया था

और इस इलाके को नाशपति की खेती के लिए उपयुक्त माना गया था, जिसके बाद राज्य

सरकार ने क्षेत्र में लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने और किसानों की आय में बढ़ोत्तरी को

लेकर न सिर्फ पौधरोपण अभियान की शुरुआत की, बल्कि लाभुक किसानों के बीच पौधा,

केसीसी लोन, पंप सेट, खाद और बीज समेत अन्य आधारभूत सुविधा भी उपलब्ध

कराया।

इस मौके पर डॉ रामेश्वर उरांव ने क्षेत्र के विकास के लिए पुल पुलिया सड़क निर्माण सहित

कई योजनाओं के क्रियान्वयन का ग्रामीणों को भरोसा दिया। वित्तमंत्री ने कहा कि

गठबंधन सरकार काम करने वाली सरकार है, हालांकि कोरोना वायरस संक्रमण काल में

एक वर्ष के कार्यकाल में कई बाधाएं उत्पन्न हुई, लेकिन अगले चार सालों में तेजी से

विकास होगा।

पेशरार में कहा अब विकास लगातार नजर आयेगा

डॉ.उरांव ने क्षेत्र के किसानों को पारंपरिक रूप से धान गेहूं की खेती के अलावा नाशपाती की

खेती से जुड़ने की सलाह दी।भाजपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार

ने क्षेत्र के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया। इन्हें दोबारा सत्ता में लौटने नहीं देंगे।

उन्होंने यह भी भरोसा दिलाया कि पेशरार में दो पुल का निर्माण जल्द होगा जिससे प्रखंड

के गांव मुख्यालय से जुड़ जाएंगे।

मंत्री के साथ राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू और उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने

क्षेत्रीय ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि प्रखंड के विकास की गति तेज होगी। कार्यक्रम में

काफी तादाद में ग्रामीण जंगल पहाड़ के गांवों से पहुंचे थे। ग्रामीणों ने अपनी समस्याओं

को लेकर मंत्री सांसद और उपायुक्त से फरियाद की। मौके पर ही डा रामेश्वर उराँव ने कई

समस्याओं का समाधान किया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from लोहरदगाMore posts in लोहरदगा »
More from हादसाMore posts in हादसा »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: