डोमचांच नगर पंचायत बनने के बाद भी डोमचांच में विकास की रफ्तार धीमी

डोमचांच नगर पंचायत का कार्यालय
Spread the love
  • उत्साह और सपना टूट रहा है निवासियों का

  • अध्यक्ष ने कहा अभी फंड ही नहीं मिला

  • कागज पर ओडीएफ पर खुले में शौच जारी

  • पहले से औऱ बदहाल हो गयी है स्थिति

अनुप कुमार पाण्डेय



कोडरमाः डोमचांच नगर पंचायत बनने बाद भी विकास की रफ्तार तेज नहीं हो पायी है।

यहां के निवासी ग्रामीण क्षेत्र से शहरी क्षेत्र में आने से काफी उत्साहित हो रहे थे कि

अब डोमचांच का विकास तेजी से होगा। डोमचांच नगर पंचायत चुनाव संपन्न हुए

महीनों बीत गए लेकिन नगर पंचायत में थोड़ी बहुत खानापूर्ति के लिए साफ सफाई नाममात्र का किया गया।

विकास तो यहां जैसे रुक सा गया।

डोमचांच नगर पंचायत के नवनिर्वाचित अध्यक्ष राजकुमार मेहता को क्षेत्र के विकास के बारे में

पूछने पर उन्होंने बताया कि अभी क्षेत्र में साफ सफाई का कार्य हो रहा है।

फंड नहीं मिलने के कारण कोई भी कार्य नहीं हो पा रहा है।

वर्तमान में नगर क्षेत्र के कुल 14 वार्डों में वार्ड पार्षदों के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए योग्य लाभुकों से आवेदन लिए जा रहे हैं ताकि उन लोगों को घर बनाने के लिए सरकारी सहायता दी जा सके ।

दूसरी तरफ डोमचांच नगर पंचायत में महीनों बीत जाने के बाद भी नगर क्षेत्र के लोगों को जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र सहित अन्य किसी भी प्रकार के प्रमाण पत्र भी नहीं बन बनाए जा रहे हैं।

नगर पंचायत के प्रमुख रोड ढाब रोड बाजार रोड आदि सहित सभी गली मोहल्ले में गंदगी का अंबार लगा है।

डोमचांच के कई इलाकों में बाढ़ जैसा दृश्य बन रहा है

पूर्व में बनी नालियां टूट-फूट कर पूरी तरह ध्वस्त हो गई है सभी रोडो में नाली में बहने वाला सारा पानी रोड में नदी की तरह प्रत्येक दिन बहता रहता है साथ ही बरसात के दिनों में विशेषकर रोड बाढ़ आई नदियों की तरह बहने लगते हैं।

कई इलाके तालाब बन जाते हैं।

नगर क्षेत्र में अभी वर्तमान में सैकड़ों लोगों का शौचालय तक नहीं बना है जिससे अधिकतर लोग अभी भी वर्तमान में खुले में शौच जाने को मजबूर हैं।

यह स्थिति तब है जबकि पूर्व में प्रशासन के द्वारा डोमचांच को ओडीएफ घोषित कर दिया गया था।

वही डोमचांच नगर पंचायत का कार्यालय अभी वर्तमान में महथाडीह पंचायत भवन में संचालित हो रहा है

लेकिन डोमचांच नगर पंचायत के वर्तमान कार्यपालक पदाधिकारी सुरेश यादव यहां पर प्रभार में हैं।

वह बहुत ही कम समय क्षेत्र या कार्यालय में दे पाते हैं।

साथ ही कार्यालय में जितने कर्मी कर्मचारी होने चाहिए उतने यहां पर नहीं है।

डोमचांच नगर पंचायत कार्यालय में अभी तक सिटी मैनेजर (नगर प्रबंधक) तक की भी बहाली नहीं हुई है।

नगर पंचायत का कार्यालय में एक या दो कर्मी ही किसी तरह कार्यालय खोलकर बंद करने का कार्य करते हैं।

नगर पंचायत क्षेत्र के विकास के लिए चयनित लगभग 445 योजनाओं की स्वीकृति देकर भेजने के बाद भी काम प्रारंभ नहीं हो पाया है।

डोमचांच में सिर्फ नाम बदला जबकि हालात और बिगड़े

कहने का मतलब यह है कि डोमचांच क्षेत्र के कुछ शहरी क्षेत्र को मिलाकर डोमचांच नगर पंचायत

बना तो दिया गया लेकिन विकास के नाम पर सिर्फ सपने दिखाए जा रहे हैं।

डोमचांच में विशेषकर बिजली की समस्या और अधिक खराब हो गया है जबकि पूर्व में

ग्रामीण क्षेत्र रहने पर यहां 18 से 20 घंटे बिजली हुआ करती थे

लेकिन नगर पंचायत बनने के बाद बिजली की तरक्की के नाम पर मात्र 6 से 8 घंटे वर्तमान में बिजली मिल रही है |

महीनों बीत जाने के बाद भी इस तरह के कोई भी कार्य नहीं हो सके हैं जिससे क्षेत्र की जनता मायूस व निराश हो चुकी है।

Please follow and like us:


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.