fbpx Press "Enter" to skip to content

सामान ले जा रहे वाहनों की अनावश्यक जांच न करे: एमवी राव

संवाददाता

रांचीः सामान ले जा रहे वाहनों की जांच के नाम पर वसूली में जुटी पुलिस को डीजीपी ने

सख्ती से आदेश दिये हैं। श्री राव ने साफ साफ निर्देश दिया है कि निर्माण सामग्री ले जा

रहे वाहनों को पुलिस वाले अनावश्यक तरीके से ना रोके। लॉकडाउन-4 में निर्माण कार्यों में

सरकार ने छूट दी है। लेकिन कम वाहनों के चलने से या रोक की वजह से निर्माण सामग्री

की समस्या भी आ रही है। इसी को देखते हुए झारखंड के डीजीपी एमवी राव ने निर्देश

जारी किया है। डीजीपी ने कहा है कि निर्माण सामग्री ले जाने वाले वाहनों पुलिस चेकपोस्ट

और गश्ती दलों के द्वारा ना रोका जाये। डीजीपी ने राज्य के सभी जिलों के एसएसपी,

एसपी और सभी रेंज के डीआईजी को इससे संबंधित निर्देश दिया जारी किया है। डीजीपी

एमवी राव ने निर्देश देते हुए कहा है कि ऐसी शिकायतें मिल रही हैं कि, निर्माण कार्यो की

सामग्री ले जा रहे वाहनों को कुछ पुलिस चेकपोस्ट और गश्ती दलों द्वारा रोक दिया जा

रहा है। डीजीपी ने कहा कि निर्माण सामग्री ले जा रहे वाहनों को लेकर स्पष्ट निर्देश दिया

जाता है कि इन वाहनों को ना रोकें। डीजीपी एमवी राव ने निर्देश देते हुए कहा है कि

आपराधिक गतिविधि दिखने पर वाहनों को रोककर पूछताछ और जांच जरूरी हो तो

डीएसपी ही करें। निर्देश में कहा गया है कि यदि गश्ती दल या पुलिस चेक पोस्ट के पास

वाहनों को अनावश्यक रोक कर रखा जाता है तो इसकी जवाबदेही संबंधित एसपी की

होगी। डीजीपी ने कहा कि इस निर्देश का पालन ठीक से किया जाये। साथ ही निर्देश दिया

कि डीआईजी और आईजी इस आदेश का पालन हर हाल में करायेंगे।

सामान ले जा रहे वाहनों की आज हुई अधिक जांच

वैसे आज लॉक डाउन में कुछ कारोबार चालू करने की अनुमति मिलने के बाद परिवहन

वाहनों की संख्या सड़कों पर बढ़ी। इसके साथ ही शहर के चौक चौराहों पर तैनात ट्राफिक

पुलिस के जवान अपनी पुरानी हरकतों पर नजर आये। वाहनों को सड़क किनारे लगाकर

किनारे से बैठकर सौदा तय करने की अनेक घटनाएं आज सड़कों पर आम थी।

[subscribe2]

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

2 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: