fbpx Press "Enter" to skip to content

उपायुक्त ने कहा कम हुआ कोरोना संक्रमण दर और चौकन्ना रहने की ज़रूरत

साहिबगंज: उपायुक्त रामनिवास यादव की अध्यक्षता में सिद्धू कान्हू स्थित सभागार में

कोविड-19 वैक्सिनेशन,टेस्टिंग एवं स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के अनुपालन के लिए ज़िला

टास्क फ़ोर्से की बैठक हुई। जिसमें सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी अंचलाधिकारी,

सभी थाना प्रभारी एवं सभी चिकित्सा प्रसार पदाधिकारी शामिल हुए। बैठक में उपायुक्त

ने सभी पदाधिकारियों से जिले में संक्रमण दर कम होने तथा इस इस महामारी में सभी को

अपनी भागीदारी निभाने एवं पूर्ण सहयोग देने हेतु धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि यह

हमारे लिए गर्व की बात है कि पाकुड़ के बाद साहिबगंज पूरे राज्य में एकमात्र ऐसा जिला

है, जहां करोना संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे कम हुई है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ

दिनों में देखा गया है कि संक्रमण की रफ्तार धीमी हुई है, जिसका पूरा पूरा श्रेय

पदाधिकारियों पुलिसकर्मियों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि

आप सभी ने एकजुटता से अपनी लगन एवं पूरी निष्ठा से कार्य करते हुए स्थिति को

बेहतर ढंग से संभाला है। उन्होंने कहा कि साहिबगंज जिले में मृत्यु दर 5 प्रतिशत से कम

है। राज्य में सब से कम मृत्यु दर साहिबगंज जिले का है और यह एक अच्छी स्थिति है।

उन्होंने कहा कि जिला टास्क फोर्स के माध्यम से जिला प्रशासन जिले वासियों को और

बेहतर सुविधाएं देने की कोशिश की जाएगी। उपायुक्त ने बताया कि राजमहल कोविड-19

अस्पताल में ऑक्सीजन पाइप लाइन सप्लाई हेतु आसोर्ड ऑक्सीजन के 50 बेड शुरू कर

दिया गया है, जबकि सदर अस्पताल में पाइप लाइन से ऑक्सीजन युक्त 50 बेड की

सुविधा अगले 2 दिनों के भीतर दे दी जाएगी। राज्य सरकार के निर्देशों पर अमल करते हुए

ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट अगले सप्ताह तक जिले में लगा दिया जाएगा। जिले में एक

एंबुलेंस भी आ चुकी है।

उपायुक्त ने सभी संबंधित अधिकारियों को जांच बढ़ाने को कहा

उपायुक्त ने अंचलाधिकारीओं एवं प्रखंड चिकित्सा प्रसार पदाधिकारियों से समन्वय

स्थापित कर टेस्टिंग को बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सभी अंचलाधिकारी एवं

प्रखंड चिकित्सा प्रसार पदाधिकारी अपने-अपने स्तर पर ग्रामीण इलाकों में ज्यादा से

ज्यादा टेस्टिंग कराएं अगर उन्हें लगता है कि किसी ग्राम विशेष में हाट बाजार, रेलवे

स्टेशन, बस स्टैंड एवं भीड़ भाड़ इलाकों में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हो सकती है, तो

तत्काल वहां कैंप लगाकर सैंपल टेस्ट करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा कोरोना संक्रमित

मरीजों की पहचान की जा सके एवं उन्हें स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा सके। उन्होंने

कहा कि जिले में वायरोलॉजी लैब की स्थापना हो चुकी है, जिसमें प्रतिदिन 400 से 500

सैंपल टेस्ट किया जा रहा है। कहा कि गुरुवार से यह टेस्टिंग और बड़ाकर 750 से 800 तक

कर दी जाएगी।उन्होंने कहा कि सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों से कम

से कम चार कम से कम 100 सैंपल आर्टिफिशियल हेतु भेजें एवं रैट तथा ट्रू नेट के माध्यम

से जिस प्रकार टेस्टिंग की जा रही है उसे और गति दें। बैठक के दौरान उन्होंने मरीजों को

होने वाली परेशानियों से अवगत कराते हुए संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों को

अपने-अपने अस्पतालों में बेहतर सुविधाएं एवं मैनेजमेंट पर बल देने के लिए कहा।

उन्होंने सदर अस्पताल में मरीजों की सुविधाओं हेतु दो बार डॉक्टर द्वारा निरीक्षण करने

का निर्देश दिया। कहा कि सभी पदाधिकारी अपने अपने क्षेत्रों में रोस्टर वाइफ ड्यूटी

लगवाए तथा कर्मियों को प्रेरित करें कि वह बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने में सक्षम रहें।

उपायुक्त ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों से वैक्सीनेशन हेतु लोगों को जागरूक

करने का निर्देश दिया।

लोगों को टीकाकरण के लिए भी जागरुक करें अधिकारी

उन्होंने कहा कि लोगों को बताएं कि टीकाकरण बिल्कुल सुरक्षित एवं बेहद आवश्यक है,

यह ना सिर्फ उनके लिए बल्कि उनके परिवारों तथा समाज के हर व्यक्ति के लिए बेहद

जरूरी है।उपायुक्त ने सभी थाना प्रभारियों से मेडिकल दवा दुकानों का निरीक्षण करते

रहने एवं यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया की दवा दुकानों में आवश्यक दवाओं की

कालाबाजारी ना हो रही हो। उन्होंने कहा कि दुकानों का रेट लिस्ट देखें एवं उनसे पूछा कि

वह किस रेट पर क्या दवाइयां बेच रहे हैं, अगर कोई भी दवा दुकानदार कालाबाजारी एवं

रेट से अधिक मूल्य पर कोई दवा बेच रहा हो तो उन पर सख्त से सख्त कार्यवाही करें।

उन्होंने थाना प्रभारियों से खाद्य वस्तुओं की दुकानों पर पैनी नजर रखने का भी निर्देश

दिया। उन्होंने कहा कि हाल में ही हुई बैठक के दौरान खाद्य वस्तुओं का मूल्य निर्धारित

किया गया है, जिस के अनुरूप जिले में खाद्य विक्रेताओं को सामान बेचना है निर्धारित

मूल्य से अधिक मूल्य लेने वाले विक्रेताओं पर कार्यवाही करें एवं लोगों को जागरूक करें।

बैठक में उपायुक्त रामनिवास यादव ने चेक नाका पर किसी भी प्रकार के ऑक्सीजन

वाहन को ना रोकने का निर्देश दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि निजी वाहनों में जो लोग

ऑक्सीजन सिलेंडर ले जा रहे हैं,उनकी पर्ची देखें एवं उनसे पूछे कि कहां से ऑक्सीजन ला

रहे हैं एवं कहां ले जा रहे हैं।

ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर सख्ती बरतें

उन्होंने कहा कि यह देखा जा रहा है कि कई लोग निजी वाहनों से ऑक्सीजन की

कालाबाजारी कर रहे हैं, जिसे रोका जाना बेहद आवश्यक है परंतु जरूरतमंदों को

ऑक्सीजन ले जाने से ना रोके।बैठक के अंत में पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने

सभी थाना प्रभारियों एवं पदाधिकारियों से कहा कि यह हमारे लिए गर्व की बात है कि हम

विविध की व्यवस्था बनाए रखने एवं जिले में संक्रमण की रफ्तार को कम करने में सफल

हो सके हैं, परंतु यह आवश्यक है कि हम यह चैन बनाए रखें तथा संक्रमण को तेज होने ना

दें। बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा, उप विकास आयुक्त प्रभात

कुमार बरदियार, अपर समाहर्ता अनुज कुमार प्रसाद, सिविल सर्जन अरविंद कुमार,

निदेशक एनईपी मंजू रानी स्वांसी, अनुमंडल पदाधिकारी साहिबगंज पंकज कुमार साव

एवं संबंधित पदाधिकारी तथा पुलिसकर्मी उपस्थित थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from साहिबगंजMore posts in साहिबगंज »

3 Comments

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: