Press "Enter" to skip to content

मलेशिया में विवादित धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के प्रवचन पर रोक




कुआलालम्पुरः मलेशिया में विवादित इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाइक को सार्वजनिक प्रवचन देने पर रोक लगा दी गयी है।

पुलिस के संचार विभाग के प्रमुख एवं वरिष्ठ सहायक कमांडर डटूक अस्मावती अहमद ने कहा,

‘‘ हां, ‘‘सभी पुलिस टुकड़ियों को इस तरह के आदेश दिये गये हैं

और यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए फैसला लिया गया है। इसका उद्देश्य जातीय सौहार्द बिगड़ने से रोकना है।’’

उधर, नाइक ने इस संबंध में लोगों से माफी मांगते हुए कहा, ‘‘मैंने हालांकि अपनी ओर से स्पष्ट कर दिया है,

लेकिन मुझे लगता है कि इस गलतफहमी के कारण जो लोग आहत हुए हैं, उनसे अपनी ओर से माफी मांगूं।

मैं नहीं चाहता हूं कि मेरी वजह से कोई परेशान हो।’’ इससे पहले मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने

16 अगस्त को कहा था कि यदि जांच में पाया गया कि नाइक की वजह से देश का माहौल खराब हो रहा है,

तो उसकी स्थायी नागरिकता समाप्त की जाएगी। मलेशिया ने 2015 में नाइक को स्थायी नागरिकता प्रदान की थी।

उल्लेखनीय है कि जाकिर नाइक भारत में हवाला कारोबार के मामले में वांछित है।

इस मामले में भारत द्वारा नाइक के प्रत्यर्पण की याचिका दायर करने के बावजूद मलेशिया के प्रशासन ने गत वर्ष उसे भारत को सौंपने से इन्कार कर दिया था।

मलेशिया में जाकिर ने हिंदुओं पर टिप्पणी की थी

मलेशिया में स्थायी नागरिकता प्राप्त करने के बाद जाकिर नाइक ने टिप्पणी की थी कि

यहां के हिंदू आज भी मलेशिया के प्रधानमंत्री की तुलना में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ज्यादा तरफदार हैं।

उनके इस बयान की मलेशिया मंत्रिमंडल में शामिल तीन मंत्रियों ने निंदा की थी।

इनलोगों ने प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से जाकिर नाइक को देश से बाहर कर देने की मांग की थी

और कहा था कि यह व्यक्ति यहां की सामाजिक समरसता को तोड़ने की साजिश रच रही है।

जाकिर ने वहां के उइगर चीनी नागरिकों के खिलाफ भी टिप्पणी कर दी थी,

जिससे चीनी मूल के लोग भी उससे नाराज ही चल रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
More from Hindi NewsMore posts in Hindi News »

Be First to Comment

Leave a Reply