fbpx Press "Enter" to skip to content

झारखंड प्रदेश कांग्रेस राहत निगरानी समिति की दैनिक बैठक में चर्चा

  • मजदूरों की सकुशल वापसी तक अभियान केंद्रित रहेगा
  • 143 लोगों को अहमद पटेल ने गुजरात से पहुंचाया
  • चार बसों को इंतजाम कर झारखंड पहुंचाया गया
  • श्री पटले की आर्थिक मदद से एक सौ छात्र आ रहे हैं
संवाददाता

रांचीः झारखंड प्रदेश कांग्रेस राहत निगरानी (कोविड-19) समिति की बैठक आज रांची

स्थित पार्टी कार्यालय में संपन्न हुई। बैठक में समिति के सदस्य प्रदीप तुलस्यान, आलोक

कुमार दूबे, राजेश गुप्ता छोटू, लालकिशोरनाथ शाहदेव, सन्नी टोप्पो, मदन मोहन शर्मा

मुख्य रुप से उपस्थित थे। इस बैठक में जीवन के साथ-साथ जीविका भी जरूरी के सिद्धांत

के तहत झारखंड लौट रहे प्रवासी श्रमिकों को हरसंभव सहायता और उनसभी को सुरक्षित

घर तक पहुंचाने के लिए चलाये जा रहे अभियान की समीक्षा की गयी। प्रदेश कांग्रेस

कमिटी के अध्यक्ष डा रामेश्वर उराँव के अनुरोध पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के

वरिष्ठ नेता अहमद पटेल की ओर से उपलब्ध कराये गयी निजी मदद के तहत गुजरात से

143 प्रवासी श्रमिक गोड्डा और जामताड़ा जिले बसों के माध्यम से आज रात सुरक्षित

अपने घर पहुंच गये है। अहमद पटेल ने अपने खर्च के माध्यम से चार यात्री बसों के

माध्यम से इन्हें जामताड़ा और एक यात्री बस से गोड्डा पहुंचाने में मदद की। इसके

अलावा अहमद पटेल के व्यक्तिगत सहयोग से अपने खर्च पर 100 छात्र अपने ट्रेन से

वापस झारखंड वापस लौट रहे है।

प्रदेश प्रवक्ता आलोक दूबे ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और प्रदेश अध्यक्ष डॉ.

रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में प्रवासी श्रमिकों को हर संभव सहयोग उपलब्ध कराने का

प्रयास किया जा रहा है। प्रवासी श्रमिकों को विशेष ट्रेन और यात्री बसों के माध्यम से

पड़ोसी राज्य से वापस लाकर पहले उनके स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था, फिर क्वारंटाइन

सेंटर में रहने की व्यवस्था और फिर घर भेजने और अनाज उपलब्ध कराने के साथ ही

मनरेगा समेत अन्य योजनाओं के माध्यम से गांव-पंचायत में ही रोजगार उपलब्ध कराया

जा रहा है।

झारखंड प्रदेश कांग्रेस का ध्यान रोजगार दिलाने पर भी रहेगा

उन्होंने बताया कि मनरेगा योजनाओं के माध्यम से अभी 3.25लाख लोगों को प्रत्यक्ष रूप

से रोजगार मिल रहा है। आलोक कुमार दूबे ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने

आज नई दिल्ली से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से देशभर के प्रमुख विपक्षी नेताओं से

बातचीत कर लॉकडाउन से उत्पन्न परिस्थतियों पर चर्चा की। यह बैठक आने वाले समय

के लिए मील का पत्थर साबित होगा। वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी भी लगातार

अर्थशास्त्रियों और क्षेत्रीय चैनलों के प्रमुखों से बातचीत कर स्थिति से निपटने पर चर्चा

कर रहे है। जबकि पार्टी की वरिष्ठ नेत्री प्रियंका गांधी ने भी उत्तर प्रदेश में संगठन की

ओर से एक हजार से अधिक यात्री बस प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए उपलब्ध कराने

का काम किया।लेकिन इस वैश्विक महामारी में भी भाजपा घटिया राजनीति से बाज नहीं

आ रही है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat