fbpx Press "Enter" to skip to content

मछली मारने के तनाव में अब युद्धपोत तैनात

पेरिस: मछली मारने के मुद्दे पर मतभेद इतना बढ़ गया है कि अब वहां युद्धपोत भी तैनात

हो गये हैं। यह मतभेद और युद्ध जैसी स्थिति ब्रिटेन और फ्रांस के बीच बनी है। एक लाख

आठ हजार लोगों की आबादी वाले ब्रिटेन के जर्सी द्वीप की बिजली आपूर्ति रोक देने की

धमकी भी फ्रांस ने दी है। वैसे इतना कुछ होने के बाद भी जानकार मानते है कि दोनों देशों

के बीच युद्ध होने की कोई आशंका फिलहाल नहीं है। लेकिन इस तनाव की वजह से पूरे

यूरोप का माहौल बिगड़ गया है। फ्रांस के उत्तर पश्चिम में करीब 14 मील की दूरी पर यह

जर्सी द्वीप है। यह ब्रिटेन के अधीन स्वायत्त इलाका है। इस द्वीप का अपना शासन तंत्र

है। लेकिन वहां की सुरक्षा अब भी ब्रिटेन के अधीन है। फिर मछली मारने को लेकर ऐसी

क्या परिस्थिति आ गयी कि वहां ब्रिटेन ने अपने युद्धपोत तैनात कर दिये। इस बारे में

जर्सी के विदेश मंत्री इयान फ्रस्ट ने कहा कि दरअसल काफी समय से दोनों देशों के

मछुआरे यहां के समुद्र में मछली पकड़ते हैं। यह क्रम पिछले कई दशक से चला आ रहा

था। लेकिन जनवरी में ब्रैक्सिट समझौते से ब्रिटेन के बाहर आ जाने के बाद से ही माहौल

बदलने लगा था। नये समझौते के तहत ब्रिटेन ने फ्रांस के मछुआरों के लिए कुछ प्रतिबंध

लगा दिये हैं। इस जल क्षेत्र में अब मछली पकड़ने के लिए फ्रांस के मछुआरों को इन शर्तों

का पालन करना होगा। यही से तनाव की शुरूआत हुई है। इसका फ्रांस ने विरोध किया है

और चेतावनी दी है कि फ्रांस से इस द्वीप पर जो बिजली आपूर्ति की जाती है, उसे बंद कर

दिया जाएगा। फ्रांस से समुद्र के नीचे से केबल के माध्यम से यह बिजली आपूर्ति होती है।


मछली मारने के विवाद में फ्रांस के नौपोत भी आये थे

मछली मारने के मुद्दे पर विवाद इस स्तर पर बढ़ जाने के बाद फ्रांस ने अपनी नौसेना की

मदद से द्वीप की राजधानी सेंट हेलियार के बंदरगाह को भी बंद कर देने की धमकी दे

डाली है। फ्रांस की इस चेतावनी के बाद भी ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने

एहतियात के तौर पर वहां ब्रिटिश नौसेना के जो युद्धपोत तैनात कर दिये हैं। इस कार्रवाई

के बाद कल फ्रांस के भी दो जहाज वहां का चक्कर लगा रहे थे। वैसे ब्रिटेन के अखबारों में

इस घटना को काफी अधिक स्थान दिया गया है। इस संबंध में यह भी बताया गया है कि

मछली का उत्पादन कोई खास आर्थिक महत्व नहीं रखता लेकिन यह इलाके पर स्वामित्व

के लिहाज से सम्मान की बात है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from फ्रांसMore posts in फ्रांस »
More from ब्रिटेनMore posts in ब्रिटेन »
More from विवादMore posts in विवाद »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: