fbpx Press "Enter" to skip to content

ढुल्लू महतो और उनके भाई के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट निरस्त

  • भाजपा नेता को झारखंड हाइकोर्ट से राहत मिली

  • लगातार पुलिस कर रही थी उनके खिलाफ जांच

  • पहले से ही कई आरोपों से घिरे हैं भाजपा नेता

रांची : ढुल्लू महतो और उनके भाई को उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली है। पिछले 16

दिनों से फरार चल रहे बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो का गिरफ्तारी वारंट निरस्त कर

दिया गया है । हाइकोर्ट ने भाजपा विधायक व उनके भाई शरत महतो के विरुद्ध जारी

गिरफ्तारी वारंट को निरस्त कर दिया।बता दें कि एक वर्ष पूर्व डोमन महतो ने विधायक व

उनके समर्थक अजय गोराई, बूढ़ा राय, कृष्णा रविदास बिट्टू सिंह एवं डंपी मंडल के विरुद्ध

मारपीट कर जख्मी कर देने का आरोप लगाया था। इसकी प्राथमिकी 15 फरवरी को दर्ज

की गयी थी।18 फरवरी को पुलिस ने ढुल्लू महतो समेत सभी आरोपियों के विरुद्ध

गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया था।गिरफ्तारी के डर से छिपते फिर रहे भाजपा

विधायक ढुल्लू महतो को धनबाद कोर्ट से राहत नहीं मिली थी। फिलहाल ढुल्लू महतो

फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए 19 फरवरी को उनके चिटाही स्थित आवास को पुलिस

ने छावनी में बदल दिया था, लेकिन इससे पहले ही ढुल्लू फरार हो गये थे। जिसके बाद से

ही पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं।आखिर ढुल्लू महतो को देर रात शुरू हुई

पुलिसिया कार्रवाई की भनक कैसे लग गयी कि वे आधी रात को घर से फरार हो गये।

कतरास थाना कांड संख्या 178 /2019 के तहत दर्जन भर से ज्यादा पुलिस कर्मी बड़े

अधिकारियों के साथ श्री महतो की गिरफ्तारी के लिए बाघमारा के चिटाही पहुंचे थे।

करीब आधे घंटे की जद्दोजहद के बाद भी धनबाद पुलिस उनको गिरफ्तार नहीं कर सकी

थी, क्योंकि इससे पहले ही वो फरार हो गये थे। हालांकि पुलिस ने औपचारिकता निभाने

के लिए उनके आवास की गहनता से तलाशी ली थी।

ढुल्लू की गिरफ्तारी के लिए अनेक स्थानों पर छापामारी

धनबाद जिले के बाघमारा के विधायक ढुल्लू महतो पिछले 16 दिनों से फरार हैं। इस बीच

धनबाद पुलिस लगातार उनकी तलाश में छापेमारी कर रही है, लेकिन उनका सुराग अब

तक नहीं मिल पाया है। इस दौरान पुलिस ने ढुल्लू की तलाश में 50 से अधिक संभावित

जगहों पर छापेमारी की है। पुलिस लगातार उनकी गिरफ्तारी को लेकर अलग-अलग टीम

बना कर तीन राज्यों में तलाश रही है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from धनबादMore posts in धनबाद »

One Comment

Leave a Reply