fbpx Press "Enter" to skip to content

शहर में लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या के बाद भी नियमों का पालन की फिक्र नहीं

  • कोरोन कहर के लगातार बढ़ने के बीच इन नमूनों को देखिये

रांचीः शहर में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या के बीच ऐसे नमूनों की पहचान का

एक अभियान हम प्रारंभ कर रहे हैं, जो प्रावधानों का उल्लंघन कर रहे हैं। सभी को पता है

कि कोरोना वायरस से फिलहाल बचाव के दो ही तरीके हैं कि एक दूसरे से दूरी बनाकर रखें

और भीड़ भाड़ वाले इलाकों में बिना मास्क के नहीं निकले। प्रशासनिक स्तर पर लॉक

डाउन का एलान होने के वक्त से लगातार इसकी हिदायत दी जाती रही है। जब पुलिस की

सख्ती थी और बिना काम के सड़क पर निकलने से डंडा पड़ने का भय था तो लोग ऐसी

चूक करते हुए कम नजर आते। जैसे जैसे लॉक डाउन में छूट दी गयी वैसे वैसे हमारे बीच

के अनेक लोग आदतन अनुशासनहीनता का परिचय देने लगे। ऐसे लोग चेहरे और वेश

भूषा से पढ़े लिखे तो नजर आते हैं लेकिन अपने आचरण से अपनी जाहिलियत साबित

कर देते हैं। अनेक लोगों से इस बारे में पूछा भी गया कि मास्क पहन कर चलने में उन्हें

क्या परेशानी है। अधिकांश का उत्तर था कि उन्हें सांस लेने में दिक्कत होती है। इससे

जुड़ा हुआ अगला सवाल फुटपाथ पर ऐसी परिस्थिति में वह कौन सा जरूरी सामान

खरीदने आये हैं, तो उनका उत्तर संतोषजनक नहीं था।

शहर में मटरगश्ती करते लोगों को तीसरा सवाल नाराज कर गया

इस कड़ी में तीसरा सवाल थोड़ी तीखा था जो अधिकांश को नाराज कर गया। इस तीसरे

सवाल में हमने पूछा था कि अगर उनकी इस लापरवाही की वजह से उन्हें या किसी और

को कोरोना संक्रमण होता है तो क्या वे ईलाज का खर्च उठायेंगे। इस सवाल का उत्तर देने

के बदले महिलाएं मुंह टेढ़ा कर आगे चली गयी तो बिना मास्क के चेहरा चमकाने वाले

पुरुष गुस्से से घूरते हुए बिना जबाव दिये आगे बढ़ गये। इन चेहरों की पहचान का क्रम

आगे भी जारी रहेगा ताकि बाद में इन चेहरों से अगर कोई संक्रमण फैलता है तो उन्हें

सामाजिक तौर पर ऐसी गलती के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सके।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: