fbpx Press "Enter" to skip to content

अदालती आदेशों के बावजूद मरयम को जेल में पर्याप्त सुविधाएं नहीं

इस्लामाबादः अदालती आदेशों को बावजूद मरयम नवाज शरीफ को जेल में पर्याप्त सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं।

चौधरी चीनी मिल मामले में लाहौर की कोट लखपत जेल में न्यायिक हिरासत काट रहीं पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री

नवाज शरीफ की बेटी एवं पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज ) की उपाध्यक्ष मरयम नवाज शरीफ को एक छोटे कमरे

में रखा गया है जिसमें खटमल और मच्छरों की भरमार है।

नवाज शरीफ के निजी चिकित्सक अदनान खान ने दावा किया है कि अदालती आदेशों के बावजूद मरयम को

जेल अधिकारी पर्याप्त सुविधाएं मुहैया नहीं करा रहे हैं।

मरयम और उनके चचेरे भाई यूसुफ अब्बास को चौधरी चीनी मिल मामले में लाहौर की एक जवाबदेही अदालत ने

पिछले महीने न्यायिक हिरासत में भेजा था।

डा. अदनान खान ने शुक्रवार को मीडिया में जारी बयान में अदालत के आदेशों के बावजूद जेल अधिकारियों के

मरयम को जेल में बेहतर सुविधाएं मुहैया नहीं कराने पर नाराजगी जताई।

डा. खान ने मरयम से लाहौर की कोट लखपत जेल में मुलाकात की थी।

बयान में उन्होंने कहा कि मरयम को जेल में एक छोटे कमरे में रखा गया है।

उस कमरे में मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं और खटमल तथा मच्छरों की भरमार हे।

मरयम को जेल में घर में बना खाना मुहैया कराने की भी जेल अधिकारियों ने अनुमति नहीं दी है।

उन्होंने कहा कि अदालत के आदेशों के मुताबिक मरयम बेहतर जेल सुविधाओं की पात्र हैं।

डा. खान ने जेल अधिकारियों से मरयम को तुरंत सुविधाएं मुहैया कराने का आग्रह किया है।

अदालती आदेशों में पहले ही इसके निर्देश दिये गये थे

अदालत ने मरयम को न्यायिक हिरासत में भेजने के दौरान ही उन्हें दी जाने वाली सुविधाओं की भी हिदायत दी थी।

दूसरी तरफ उनकी पार्टी के कई नेताओं ने बार बार यह आरोप लगाया है कि किसी बड़ी साजिश के तहत

जेल में दोनों नेताओं को तकलीफ दी जा रही है। उनमें से नवाज शरीफ काफी बीमार भी चल रहे हैं।

पार्टी ने पहले से ही चेतावनी दे रखी है कि अगर दोनों नेताओं का जेल में कुछ होता है

तो इसकी पूरी जिम्मेदारी इमरान खान की सरकार पर ही होगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पाकिस्तानMore posts in पाकिस्तान »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!