fbpx Press "Enter" to skip to content

गुरुवार को उपायुक्त ने किया प्लाज्मा डोनेशन कैंप का दौरा

रांचीः गुरुवार को उपायुक्त रांची छवि रंजन ने रिम्स स्थित प्लाज़मा डोनेशन कैंप का

दौरा किया। इस दौरान उन्होंने प्लाजमा डोनेशन के लिए पहुंचे एक डोनर से मुलाकात भी

की एवं उन्हें प्रशस्ति पत्र तथा प्रतीक चिन्ह दे कर सम्मानित किया। कोविड 19 से

संक्रमित मरीजों के इलाज हेतु रिम्स रांची में प्लाजमा थैरेपी की शुरुआत की गई है। इसके

मद्देनजर रांची जिला प्रशासन एवं रिम्स के संयुक्त प्रयास से “प्रतिरक्षक: दी सेवियर”

नाम से प्लाज्मा डोनेशन अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत कोविड19 से ठीक हो

चुके मरीजों को प्लाज़मा डोनेशन के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

गुरुवार को उपायुक्त ने प्लाजमा डोनेशन कैंप का दौरा करने के दौरान वहां उपस्थित

अधिकारियों से प्लाजमा डोनेशन से संबंधित पूरी स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान

उन्होंने वहां उपस्थित एक डोनर से भी मुलाकात की। डोनर से मिलकर उपायुक्त ने उन्हें

लोगों की मदद करने के लिए धन्यवाद दिया। साथ ही, प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह दे

कर उन्हें सम्मानित भी किया। मोरहाबादी के रहने वाले डोनर विनोद कुमार का

उत्साहवर्धन करते हुए उन्होंने कहा, “न सिर्फ जिला प्रशासन बल्कि पूरी रांची को आप के

ऊपर गर्व है। आप जैसे लोग जब तक हैं तब तक हमें को से लड़ने की ताकत हमें मिलती

रहेगी।”

गुरुवार को कई प्लाज्मा दाताओं को धन्यवाद भी दिया

डोनर विनोद कुमार ने उपायुक्त को आश्वस्त करते हुए कहा कि, “मैं यहां दूसरी बार

स्वेच्छा से प्लाजमा डोनेट करने के लिए आया हूं। अगर जरूरत पड़ी तो मैं तीसरी बार भी

आऊंगा।” साथ ही, आमजनों से अपील करते हुए मैं यह कहना चाहता हूं कि, “प्लाजमा

डोनेशन एक प्रकार का रक्तदान ही है। इससे डरने की कोई जरूरत नहीं है। मैं कोविड 19

से ठीक होने के बाद दो बार प्लाजमा दान कर चुका हूं। आप सभी जो कोई भी प्लाजमा

दान करना चाहते हैं, कृपया रिम्स स्थित कैंप में आएं। यहां किसी भी प्रकार की कोई

समस्या नहीं है। इसके अतिरिक्त आमजनों के बैठने एवं इंतज़ार करने की समुचित साफ

– सुथरी व्यवस्था की गई है।”

उपायुक्त ने बुधवार देर रात रिम्स के आईसीयू वार्ड में एडमिट डॉक्टर के लिए प्लाजमा

डोनेट करने पहुंचे रांची पुलिस के जवान, लल्लू कुमार यादव को वहीं से फोन लगा कर

उनका उत्साहवर्धन किया। साथ ही, उन्हें धन्यवाद देते हुए कहा कि, “आपने बहुत ही

अच्छा काम किया है। आपके प्लाजमा डोनेशन की वजह से किसी व्यक्ति की जान बचाई

जा सकती है। धन्यवाद, हमें आप पर गर्व है।”

आमजनों से अपील करते हुए उपायुक्त ने कहा, “कम से कम 28 दिन या अधिकतम 60

दिन पहले कोविड-19 से ठीक हो चुके लोगों से मेरी अपील है कि आप रिम्स स्थित हमारे

प्लाजमा डोनेशन कैंप में आएं एवं प्लाजमा डोनेट करें। रांची पुलिस सहित सीआईएसफ,

जगुआर के जवानों सहित कई लोगों ने प्लाजमा डोनेट किया है और कर रहे हैं। इसमें

किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं है। साथ ही, एक बार डोनेट करने के 15 दिनों के बाद

आप फिर से प्लाजमा डोनेट कर सकते हैं।

कई संगठनों की वीडियो कांफ्रेंस में भी की थी इसकी अपील

गौरतलब है कि बुधवार को भी उपायुक्त ने शहर के कई सामाजिक संगठनों के साथ

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक भी की थी। जहां उन्होंने सभी स्वयं संस्थाओं से

आमजनों को प्लाजमा डोनेशन करने हेतु प्रेरित करने की अपील की थी। उन्होंने कहा था,

“सभी लोग अपने अपने स्तर से इस मुहिम की जागरूकता को लेकर प्रयास करें।”

उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमितों के उपचारात्मक उपाय के रूप में प्लाज्मा थेरेपी हेतु

प्लाजमा डोनेशन की आवश्यकता होती है । यह प्लाज्मा दान उन लोगों से स्वैच्छिक रूप

से लिया जा रहा है जो कोरोना से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। इसके अतिरिक्त उपायुक्त के

निदेशानुसार जल्द ही एक प्लाजमा मैनेजमेंट पोर्टल की भी शुरुआत की जाएगी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!