fbpx Press "Enter" to skip to content

लापुंग के लालगंज बाजार से अतिक्रमण हटाने की मांग पर प्रदर्शन

लापुंग : लापुंग के लालगंज गांव के ग्रामीणों ने लापुंग थाना पहुंचकर लालगंज बाजार टांड़

के व्यवसायी राधे साहु के चाय नाश्ता की दुकान का छप्पर उजाड़ने के विरोध तथा

लालगंज बाजार की सरकारी जमीन पर की जा रही अतिक्रमण एवं अवैध बिक्री पर रोक

लगाने की मांग को लेकर लापुंग थाना में प्रदर्शन किया और न्याय की मांग की। महिलाओं

ने लालगंज बाजार की जमीन को हर हाल में बचाए जाने की बीड़ा उठाए जाने का संकल्प

लिया। इस संबंध में थाना प्रभारी जगलाल मुंडा ने बताया कि ग्रामीणों की मांग के अनुसार

लालगंज बाजार कांड के काम को फिलहाल बंद करा दिया गया है। इस संबंध में थाना

प्रभारी द्वारा धारा 107 के तहत दोनों पक्ष के खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया है।

उल्लेखनीय है कि शनिवार को लापुंग अंचल के कर्मियों ने दो डिसमिल जमीन की मापी

की थी। ग्रामीणों ने शिकायत किया कि उसी दो डिसमिल जमीन पर 21 जून को राधे साहू

की बाजार की चाय नाश्ता की दुकान वाली जमीन पर सुमित्रा देवी और उसके पति

जालंधर साहू नींव खोदकर जमीन को कब्जा लेने के प्रयास किया। लालगंज की महिला

मंडल की सैकड़ों महिला सदस्यों और ग्रामीणों ने बड़ी संख्या में लापुंग थाना पहुंचकर

छप्पर उजाड़ने वाले जालंधर साहु के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

लापुंग के लालगंज में जालंधर साहु के खिलाफ कार्रवाई की मांग

ग्रामीणों ने पुलिस पदाधिकारियों को बताया कि जालंधर साहू और उसके परिवार वाले

जबरन बाजार की जमीन को अपना बताकर दुकानदारों को उजाड़ने में लगे हैं। ग्रामीणों के

अनुसार खाता नंबर 04 प्लॉट नंबर 614 की सरकारी जमीन तीन एकड़ के रकबा में फैली

हुई है और वर्षों से इस भूमि में साप्ताहिक हाट बाजार लगते आयी। ‌ इसी जमीन के हिस्से

पर सुमित्रा देवी पति जालंधर साहू ने पूर्व जमींदार लाल मृत्युंजय शाहदेव से 2 डिसमिल

जमीन खरीदी थी। इस मामले में पूर्व में ही की गई दाखिल खारिज रद्द कर दी गई थी।

ग्रामीणों के अनुसार कुछ लोग पूर्व जमींदार से बिक्री पट्टा बनवाकर जमीन पर कब्जा

करने का प्रयास कर रहे हैं जबकि बाजार हाट की जमीन की अवैध बिक्री से लापुंग प्रखंड के

लालगंज बाजार के अस्तित्व पर मंडरा रहा खतरे से किसानों, व्यापारियों और दुकानदारों

में आक्रोश देखा जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि वर्षों से कृषि उत्पादन बाजार समिति

पंडरा और बाद में जिला परिषद रांची को लालगंज बाजार से काफी राजस्व प्राप्त होता रहा

है। कृषि उत्पादन बाजार समिति के द्वारा लालगंज बाजार में कई शेड बनाए गए और वर्षों

से यह सार्वजनिक बाजार लगते आया है। ग्रामीणों ने बताया कि लालगंज के ग्रामीणों के

भारी विरोध के बावजूद अवैध कब्जा और बिक्री का प्रयास लगातार किया जा रहा है और

कुछ लोगों को बाजार में कब्जा दिलाने में लगे हैं। ‌ उधर मामले पर संज्ञान लेते हुए दूसरी

ओर अंचलाधिकारी रोहित सिंह ने ग्रामीण और जमीन के क्रेता और विक्रेता दोनों को

अंचल कार्यालय में उपस्थित होने व कागजात के साथ उपस्थित होने का निर्देश दिया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!