fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना महामारी से जूझती दुनिया में कॉन्डम बना महत्वपूर्ण, वैश्विक बाज़ारों में अकाल

नई दिल्ली : कोरोना महामारी के प्रभाव से देश-विदेश की सरकारों ने लॉकडाउन जैसे

सख्त कदम उठा कर देश को बचाने की कोशिश में लगे है। ऐसे में लोगों के घरों में बंद

होना एक ऐसी वस्तु की मांग बढ़ा रहा है जो इस वक़्त बिलकुल भी महत्वपूर्ण नहीं है।

दरअसल, विश्वभर में लॉकडाउन के कारण अलग-अलग देशों के सरकारों के सख्त कदम

से लोग अपने घरों में कैद हो गए है जिसकी वजह से बाज़ारों से कॉन्डम के स्टॉक में काफ़ी

कमी आई है। चूंकि यह जरूरी सेवाओं में नहीं है इसलिए फैक्ट्री बंद होने के कारण कॉन्डम

की पहुँच लोगों तक नहीं हो पा रही है और विश्व भर में इस वस्तु का अकाल पड़ गया है।

दुनिया में कॉन्डम का सबसे ज्यादा उत्पादन मलेशिया की कंपनी कारेक्स बीएचडी करती

है, जिसकी तीन फैक्ट्री मलेशिया में स्थित है। वहीं भारत और थाईलैंड में भी कॉन्डम

बनाने वाली फैक्ट्रियाँ मौजूद है जो फिलहाल सभी लॉकडाउन के कारण बंद पड़ी है।

कोरोना के संकट में कॉन्डम की कमी चिंताजनक

कोरेक्स कंपनी के अनुसार बढ़ते महामारी संकट के कारण पिछले 10 दिनों में एक भी

कॉन्डम का उत्पादन नहीं किया गया है। डेलीमेल की खबर की माने तो भारत की तरह

मलेशिया सरकार ने भी लॉकडाउन कर वहां की सारी व्यवस्थाओं पर ताला लगाने को

मजबूर कर दिया है। जिसमें कॉन्डम की फैक्ट्रियाँ भी बंद हो गयी है और दुनिया भर में

सप्लाई भी बंद हो गयी है। जानकारी के मुताबिक वैश्विक बाज़ारों से कुल 10 करोड़ से

ज्यादा कॉन्डम की मांग के कारण कमी आई है। कोरेक्स कंपनी के सीईओ गोह मिया

काइट ने जारी बयान में कॉन्डम की मांगो का बढ़ने को चिंताजनक व डरावना बताया है

और कहा है की कॉन्डम की कमी आने वाले कुछ सप्ताह नहीं बल्कि महीनेभर से भी

ज्यादा रह सकती है जो की काफी डरावनी तस्वीर को दर्शाती है। दुनिया भर में कई ऐसे

मानवीय कार्यक्रम चल रहे है जो कोरोना महामारी के इस संकट से जूझने के लिए अभी

कही ज्यादा महत्वपूर्ण है, उस पर से कॉन्डम की वैश्विक बाजारों में कमी आना आप में

एक बुरा संकेत है। चूंकि कोरोना एक फैलने वाली बीमारी है और कॉन्डम की कमी सुरक्षा

में कमी ला रही है। हालांकि किसी भी तरह की शारीरिक संपर्क पर बार-बार रोक लगाने की

गुजारिश की जा रही है पर वैश्विक बाज़ारों से कॉन्डम की कमी के कारण कोशिशे असफल

होती दिखाई दे रही है और बड़े संकट की ओर ईशारा कर रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat