fbpx Press "Enter" to skip to content

दिल्ली सरकार ने लॉकडाउन-चार संबंधी सुझाव प्रस्ताव केंद्र को भेजा

नयी दिल्लीः दिल्ली सरकार ने लॉकडाउन-चार से संबंधित सुझाव प्रस्ताव केंद्र सरकार को

भेज दिया है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने शुक्रवार को मीडिया को इसकी जानकारी दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में 15 मई तक लॉकडाउन चार में क्या

रियायतें चाहिए, इस पर सुझाव देने के लिए कहा था। इसके बाद दिल्ली सरकार ने

राजधानी के लोगों से सुझाव मांगे थे और पांच लाख से अधिक लोगों ने अपने सुझाव भेजे

थे। श्री जैन ने कहा कि प्रस्ताव केंद्र को भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि लोगों ने

सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष जोर देने को कहा

है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लोग सीमित संख्या में मेट्रो और

बस चलाने के पक्ष में हैं। लोग चाहते हैं चौथाई से लेकर आधे मॉल भी खोले जाएं। दुकानें

भी सम-विषम आधार पर खोलने का सुझाव भेजा गया है। वैश्विक महामारी कोविड-19 के

कारण पूरे देश में लॉकडाउन लागू है और इसका तीसरा चरण 17 मई तक है। राजधानी में

वायरस के बढ़ते मामलों को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पहले ऐसा कहा जा रहा था कि

गर्मी में यह कम हो सकते हैं, किंतु ऐसा नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि बढ़ती संख्या की

बजाय अब इसकी बढोतरी की दर को देखना चाहिए जो अब पांच प्रतिशत तक पहुंच गई

है।

दिल्ली सरकार ने जनता से इसपर मांगे थे सुझाव

लॉकडाउन और कोरोना के मामलों में संतुलन की जरूरत बताते हुए श्री जैन ने कहा कि

वायरस को रोकना भी अहम है लेकिन अर्थव्यवस्था को भी देखना होगा। अगर सभी

मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और साबुन से हाथ धोएं तो कोरोना से

निपटा जा सकता है। गौरतलब है कि दिल्ली कोरोना वायरस के मामले में देश में चौथे

स्थान पर है और गुरुवार को रिकार्ड 472 मामले आये जिससे संक्रमितों की कुल संख्या

8470 हो गयी तथा कुल 115 की मृत्यु हो चुकी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from राज काजMore posts in राज काज »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: