Press "Enter" to skip to content

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने गुवाहाटी स्टेडियम में बने कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया

  • कामाख्या मंदिर जा कर पूजा अर्चना भी की

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन

(डीआरडीओ) द्वारा सारुसजई स्टेडियम में निर्मित कोविड अस्पताल देखने के लिए

पहुंचे। सिंह ने बताया कि असम सरकार के समन्वय से बने इस अस्पताल में 316 बिस्तर

हैं। उन्होंने कहा,‘‘ यह अस्पताल कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में असम

सरकार की मदद करेगा।’’ इस दौरान रक्षामंत्री के साथ मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा और

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री केशव महंत भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं को बताया

कि रक्षामंत्री ने अस्पताल का निरीक्षण किया और भरोसा दिलाया कि जरूरत पड़ने पर

बाढ़ से बचाव के लिए भी राज्य सरकार को सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। उन्होंने बताया

कि अस्पताल का उद्घाटन 10 जून को हुआ था और यह 20 जून से काम करना शुरू कर

देगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में संक्रमण दर और उपचाराधीन मामले, दोनों में कमी

आई है और इसे देखते हुए गुवाहाटी में तीन कोविड अस्पतालों में गैर कोविड मरीजों का

उपचार शुरू करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार गुवाहाटी मेडिकल

कॉलेज एंड हॉस्पिटल में गैर कोविड मरीजों के उपचार की मंजूरी देने पर विचार कर रही है,

वहीं डीआरडीओ निर्मित अस्पताल और कालापहाड़ कोविड देखभाल केन्द्र कोविड

अस्पतालों की तरह काम करेगें।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इससे पहले ही पूजा करने गये थे

इससे पहले रक्षामंत्री ने कामाख्या मंदिर जा कर पूजा अर्चना की थी।कोरोना वायरस

संक्रमण को रोकने के लिए पाबंदी लागू होने के कारण मंदिर फिलहाल बंद चल रहा है और

सिंह ने मुख्य द्वार के बाहर ही प्रार्थना की। रक्षामंत्री बृहस्पतिवार की शाम को यहां पहुंचे।

इससे पहले उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के किमिन में सीमा सड़क संगठन द्वारा निर्मित 12

सामरिक सड़कों का लोकार्पण किया था। रक्षामंत्री ने राजभवन में रात्रि विश्राम किया जहां

राज्यपाल जगदीश मुखी ने उनके सम्मान में रात्रि भोज आयोजित किया। इस भोज में

सरमा, पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और विधानसभा अध्यक्ष विश्वजीत दैमारी भी

मौजूद थे। नए कोविड अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद राजनाथ सिंह नयी दिल्ली

रवाना हो गए।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version