fbpx Press "Enter" to skip to content

दीपिका पादुकोण पीकू और छपाक को स्पेशल फिल्म मानती है

मुंबईः दीपिका पादुकोण इनदिनों चर्चा और विवादों के घेरे में हैं। दिल्ली के जेएनयू में चल

रहे विरोध प्रदर्शन में उनका शामिल होना भाजपा समर्थकों को नागवार गुजरा है। इसी

वजह से सोशल मीडिया पर उन्हें ट्रोल भी किया जा रहा है। कई लोगों ने इसी क्रम में यह

आरोप भी लगाया है कि अपनी फिल्म के प्रोमोशन के लिए ही वह जेएनयू आयी थीं।

विरोध करने वालों ने उनकी फिल्म का वहिष्कार करने का भी आह्वान किया है। इन सभी

के बीच दीपिका पादुकोण ने विवादों से कन्नी काटते हुए यह कहा है कि उनके लिए पीकु

और छपाक स्पेशल फिल्म है। संजय लीला भंसाली की फिल्म बाजीराव मस्तानी और

पद्मावत दीपिका पादुकोण के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। इन

दोनों फिल्मों ने दीपिका को एक अलग पहचान दिलाई। लेकिन दीपिका पादुकोण के लिए

बाजीराव और पद्मावत नहीं बल्कि पीकू और छपाक ज्यादा स्पेशल हैं। दीपिका से पूछा

गया कि बाजीराव और पद्मावत या पीकू और छपाक। एक एक्टर के तौर क्या ज्यादा

अच्छा लगता है? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पीकू और छपाक अच्छी लगती

है। मुझे लगता है कि हर फिल्म के साथ कुछ सीखने को मिलता है।


दीपिका पादुकोण ने कहा हर फिल्म से कुछ सीख मिलती है

हर किरदार से कुछ सीखने को मिलता है। पीकू और मालती स्पेशल हैं। क्योंकि कहीं ना

कहीं ये बहुत रिलेटेबल हैं। क्योंकि ये अभी-अभी हुआ है। लक्ष्मी की कहानी मेरी लिए बहुत

चैलेंजिग भी थी। क्योंकि जब आप लिविंग रियल लाइफ कैरेक्टर निभाते हैं तो कहीं ना

कहीं एक जिम्मेदारी भी होती है। वो सेट पर आती थीं। उनका वेलिडेशन मेरे लिए बहुत

जरुरी था। एसिड अटैक की वास्तविक घटना पर आधारित यह फिल्म जेएनयू में उनके

उपस्थित होने की वजह से अधिक चर्चा में आ चुकी है। वैसे दीपिका ने इस विरोध प्रदर्शन

में शामिल होने के अलावा वहां कोई बयान नहीं दिया था।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

  1. […] दीपिका पादुकोण पीकू और छपाक को स्पेशल … मुंबईः दीपिका पादुकोण इनदिनों चर्चा और विवादों के घेरे में हैं। दिल्ली के जेएनयू में चल रहे विरोध प्रदर्शन में उनका … […]

Leave a Reply