Press "Enter" to skip to content

टी-20 विश्व कप में पहली बार डिसिजन रिव्यू सिस्टम का प्रयोग होगा







दुबई: टी-20 विश्व में पहली बार डिसिजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस) का उपयोग किया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की गवर्निंग बॉडी ने इस बात की घोषणा करते हुए कहा कि

इस महीने के अंत में शुरू हो रहे आईसीसी टी-20 विश्व कप में डीआरएस की सुविधा उपलब्ध

रहेगी। आगामी टी-20 विश्व कप के लिए इस सप्ताह आईसीसी द्वारा जारी की गई खेल की शर्तों के

अनुसार, प्रत्येक टीम को प्रति पारी अधिकतम दो रिव्यू लेने का मौका मिलेगा।

गवर्निंग बॉडी ने पिछले साल जून में सभी प्रारूपों के एक मैच की प्रत्येक पारी में, प्रत्येक टीम के

लिए एक अतिरिक्त डीआरएस की पुष्टि की थी। कोविड 19 की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए

कई बार ड्यूटी पर कम अनुभवी अंपायर हो सकते हैं, इसीलिए प्रत्येक टीम के लिए प्रति पारी

असफल अपीलों के लिए वनडे और टी-20 मैचों दो और टेस्ट के लिए तीन डीआरएस की समीक्षा

सुविधा देने का निर्णय लिया था। इसके साथ ही आईसीसी ने मैच में देरी और बारिश से बाधित मैचों

के लिए न्यूनतम ओवरों की संख्या बढ़ाने का भी फैसला किया है। टी-20 विश्व कप के ग्रुप चरण के

दौरान प्रत्येक टीम को डीएलएस पद्धति से परिणाम तय करने के लिए कम से कम पांच ओवर

बल्लेबाजी करनी होगी।

टी-20 विश्व कप उसी का उपयोग किया गया था

हालांकि सेमीफाइनल और फाइनल के लिए प्रत्येक टीम को परिणाम तय करने के लिए कम से कम

10 ओवर बल्लेबाजी करनी होगी। पुरुषों के टी-20 विश्व कप में इससे पहले डीआरएस का उपयोग

नहीं किया गया था क्योंकि इस इवेंट का अंतिम संस्करण 2016 में हुआ था जब टी-20 में डीआरएस

नहीं था। 2018 महिला टी-20 विश्व कप आईसीसी का पहला टूर्नामेंट था जिसमें डीआरएस उपलब्ध

था। इस प्रतियोंगिता में प्रत्येक टीम के पास एक रिव्यू उपलब्ध था।

आॅस्ट्रेलिया में महिला टी-20 विश्व कप के 2020 संस्करण में फिर से उसी का उपयोग किया गया

था। डीआरएस अंपायरों द्वारा निर्णय लेने में गलती होने के मार्जिन को कम करने के लिए बनाया

गया था। इस नियम के जरिए अगर कोई खिलाड़ी अंपायर के फैसले से नाख़ुश है तो वह रिव्यू ले

सकता है। इसके बाद फील्ड अंपायर तीसरे अंपायर से परामर्श लेते हैं। पुरुष क्रिकेट की बात की जाए

तो इसका प्रयोग 2017 के बाद से आईसीसी के प्रमुख प्रतियोगिताओं में किया

जा रहा है। आईसीसी के नियमों के तहत, पुरुषों और महिलाओं दोनों के अंतर्राष्ट्रीय मैचों में

डीआरएस का उपयोग द्विपक्षीय श्रृंखला के लिए भाग लेने वाले दोनों बोर्ड के विवेक पर है

कि वह इस प्रणाली का प्रयोग करना चाहते हैं या नहीं।



More from क्रिकेटMore posts in क्रिकेट »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: