fbpx Press "Enter" to skip to content

मौत का खौफ पति को छोड़कर भागी बीबी, कोरोना वायरस

  • सिंगापुर से लौटकर पत्नी को दी थी खतरे की जानकारी

  • पति को बुखार नहीं ठंड नहीं लेकिन बीबी डर कर भागी

  • इलाके के लोगों में भी फैल गया था बीमारी का आतंक

प्रतिनिधि

ढाकाः मौत का खौफ ऐसा होता है, यह पहली बार नजर आया है। यहां

बांग्लादेश में अब तक किसी नागरिक को यह बीमारी होने की पुष्टि

नहीं हुई है। लेकिन सिंगापुर में कुछ बांग्लादेशी नागरिकों का ईलाज

चल रहा है। सिंगापुर से ही लौटे एक टांगाइल के व्यक्ति के साथ मौत

के खौफ का यह हादसा हो गया है। 42 वर्षीय अब्बास अली सिंगापुर से

लौटे हैं। गुरुवार को उनके लौट आने के बाद घर आने के बाद उन्होंने

अपनी पत्नी को कोरोना वायरस के खतरों के बारे में जानकारी दी।

इसी सूचना से पत्नी को मौत का खौफ कुछ ऐसा हुआ कि वह घर

छोड़कर भाग गयी। वैसे बाद में यह पता चल गया है कि महिला

भागकर अपने मायके ही गयी हैं। इस घटना के प्रकाश में आने के बाद

उप जिला के काशिल यूनियन परिषद के अध्यक्ष मिर्चा राजिक ने

बताया कि मौत का खौफ अन्य लोगों के बीच भी फैल गया था। अज्ञात

खौफ से पीड़ित लोगों को मानसिक राहत दिलाने के मकसद से

अब्बास को वहां के अस्पताल में भेजा गया है। अस्पताल के डाक्टरों ने

कहां है कि इस व्यक्ति में कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं

पाये गये हैं। मौत का खौफ उसके बाद भी जारी रहने की वजह से

एहतियात के तौर पर अब्बास को ढाका भेजा गया है। इस दौरान उसने

डाक्टरों को बताया है कि उसे न तो बुखार हुआ है और न ही ठंड लग

रही है। उसके मुताबिक शायद उसे मानसिक तौर पर परेशान करने के

लिए कुछ लोगों ने मौत के खौफ की यह अफवाह फैलायी है। इसकी

चपेट में खुद उसकी अपनी पत्नी भी आयी और घर से भाग निकली है।

मौत के खौफ के बीच चीनी नागरिक अस्पताल में

चीन के नागरिक जांगोई यहां कार्यरत एक चीनी कंपनी के अधिकारी

हैं। वह देश से हाल ही में लौटे हैं। यहां लौटने के बाद उन्हें सर्दी और

बुखार हुआ है। इसी सूचना के आधार पर उन्हें तत्काल रंगपुर के जिला

अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। 37 वर्षीय इस चीनी नागरिक को

अलग से रखा गया है ताकि अगर वाकई उन्हें कोरोना वायरस है तो

यह अन्य मरीजों तक नहीं फैले। रंगपुर के मेडिकल बोर्ड के अध्यक्ष

डॉ देवेंद्र नाथ सरकार ने बताया है कि मरीज के हर चीज का विश्लेषण

किया जा रहा है। बाहर से भी विशेष दल को इसके लिए बुलाया गया

है। सारा जांच पूरा होन के बाद ही इस बात की पुष्टि की जाएगी कि

चीन के इस व्यक्ति को कोरोना वायरस है अथवा नहीं। तब तक मौत

का खौफ होन के बाद भी डाक्टरों का दल किसी नतीजे पर नहीं

पहुंचेगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

5 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by