fbpx Press "Enter" to skip to content

प्रदेश में शराबबंदी के निर्देश के पालन की असलियत सामने आयी

  • जहरीली शराब के सेवन से आठ लोगों की मौत

राष्ट्रीय खबर

पटनाः प्रदेश में शराबबंदी कानून लागू होने के बावजूद जमकर अवैध शराब की बिक्री हो

रही है । कई जगह अवैध शराब बनाई भी जा रहे हैं। इसे सरकार को करोड़ों रुपए राजस्व

का नुकसान हो रहा है। इस कारोबार में स्थानीय पुलिस और उत्पाद विभाग की

मिलीभगत सामने आ रही है। बिहार में होली के मौके पर बेगूसराय , नवादा आदि स्थानों

पर जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत होने की खबर आ रही है। क्योंकि यह शराब

स्थानीय स्तर पर बनाई जाती है और नशा अधिक करने के लिए उसमें कई तरह के

जहरीले पदार्थ मिलाए जाते हैं। इसीलिए निरीह लोगों की मौत हो जा रही है।

होली के अवसर पर जहरीली शराब पीने से आठ लोगों की मौत हो गई। नवादा जिले में

आधा दर्जन लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई है। जिसके बाद शराबबंदी की

सरकारी दावा को लेकर प्रश्नचिन्ह लग गया है। प्रदेश में जहरीली शराब से मौत का

सिलसिला थम नहीं रहा है। अब एक बड़ी घटना नवादा जिले में हो गई है। यहां जहरीली

शराब ने छह लोगों की जान चली गई है। बीती रात से अभी तक ये घटनाएं गोंदपुर और

खरीदी बीघा गांवों में हुईं हैं। कई बीमार लोगों का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में चल

रहा है।

पत्नी ने कहा-शराब पीने से हुई मौत

सभी मृतक नगर थाना क्षेत्र के भदौनी पंचायत के रहने वाले हैं। मृतकों में शामिल खरीदी

बीघा के दिनेश उर्फ शक्ति की पत्नीस प्रियंका और बहन रेखा ने शराब पीने से मौत की

बात कही है। प्रियंका ने बताया कि पति बीमार नहीं थे। उन्हों्ने शराब पी थी। इससे ही

मौत हुई है। हालांकि जिले के डीएम और एसपी ने पहले घटना के प्रति अनभिज्ञता जाहिर

की, फिर कहा कि जांच कराई जाएगी। मिली जानकारी के मुताबिक जिला प्रशासन

जहरीली शराब से हुए मौत की सत्यता की जांच कर रहा है। जिला प्रशासन के मुताबिक

जब तक स्पष्ट नहीं हो जाए तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता। इधर जिले में जहरीली

शराब पीने से हुए मौतों को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है।उल्लेखनीय है कि बिहार में

शराब का सेवन तथा बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध है।वहीं जहरीली शराब की बिक्री को लेकर

मृत्यु दंड तक का प्रावधान है। उधर, बेगूसराय जिले में जहरीली शराब पीने से दो व्यक्ति

की मौत हो गई है वहीं एक व्यक्ति की हालत गंभीर बनी हुई है। इस घटना के बाद गांव में

दहशत का माहौल बना हुआ है। घटना बखरी थाना क्षेत्र के गोरियारी गांव की है। मृतक

व्यक्ति की पहचान गोरीयारी निवासी राजकुमार सहनी और सकलदेव चौधरी के रूप में

की गई है। वहीं हालत बिगड़ने वाले व्यक्ति की पहचान बिरजू सहनी के रूप में की गई है।

प्रदेश में शराबबंदी की सच्चाई सामने आ गयी

इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। इस घटना में पुलिस ने दोनों

मृतक व्यक्ति के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है।

जहरीले शराब से मौत के मामला का खुलासा तब हुआ जब इन दोनों मृतक व्यक्ति के शव

को जलाने के लिए परिजन लेकर जा रहे थे। तभी ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर

पहुंची और आगे की जांच में जुट गई है। इस घटना के सामने आने के बाद मौका-ए-

वारदात पर बखरी एसडीओ भी जांच पड़ताल करने पहुंचे जहां उन्होंने बताया कि शराब

पीने से मौत का मामला सामने आया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ स्पष्ट हो

पायेगा। जहरीली शराब पीने से मौत का यह मामला इलाके में चर्चा बना हुआ है वहीं

पुलिस पर लोग सवाल खड़ा कर रहे हैं। लोगो का कहना है कि जब इलाके में शराब नहीं

मिल रही है तब तक ये वारदात कैसे हो गई। प्रदेश में शराबबंदी के बारे में लोगों का दबी

जुबान में मानना है कि कहीं ना कहीं पुलिस की देखरेख में शराब का कारोबार फलफूल रहा

है। यही नहीं, लोग शराब की होम डिलीवरी का भी आरोप लगा रहे हैं। फिलहाल जहरीली

शराब पीने से हुई इस मौत ने एक साथ कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अब पोस्टमार्टम

रिपोर्ट आने के बाद ही इसकी पुष्टि हो पाएगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: