fbpx Press "Enter" to skip to content

मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में पकड़े जाने से पहले लीपापोती

  • पार्षदों को मिले आमंत्रण से हैरान हैं जनप्रतिनिधि
  •  ठेका पर आये लोग ही हावी हैं नगर परिषद में
  •  वसूली के लिए हर हथकंडे आजमा रहे हैं वे
  •  पैसा नहीं मिलने तक कोई काम नहीं होता
राष्ट्रीय खबर

गुमलाः मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में प्रगति पर जानकारी मांगी जा सकती है। इसे

भांपते हुए गुमला नगर परिषद पर हावी गिरोह ने यहां के पार्षदों को अजीब किस्म का

आमंत्रण पत्र भेजा है। जिस तरीके से कार्यक्रम की सूचना दी गयी है, उससे स्पष्ट है कि

सिर्फ औपचारिकता पूरी करने के लिए ऐसा किया जा रहा है। इसके जरिए मुख्यमंत्री को

कार्य प्रगति के बारे में सकारात्मक जानकारी दी जा सकेगी। वैसे इतने दिनों तक यह सारा

काम क्यों नहीं हो पाया, अगर इस पर मुख्यमंत्री ने सवाल कर दिया, तो यहां कुंडली

मारकर बैठे लोगों को लेने के देने पड़ जाएगा।

अजीब किस्म के आमंत्रण की शिकायत मिलने के बाद मामले की गहराई तक जाने की

कोशिश हुई तो कई नये खुलासे भी हुए। नगर परिषद की हालत यह है कि वहां स्थायी

अधिकारियों और कर्मचारियों के मुकाबले ठेका पर आये लोगों का कब्जा हो गया है। सारा

काम उनके नियंत्रण में हैं और स्थानीय लोगों खासकर ठेकेदारी प्रथा की जानकारी रखने

वाले लोगों की शिकायत है कि किसी भी काम को आगे बढ़ाने के लिए इस गिरोह को

चढ़ावा देना मजबूरी है। अब यह जान लें कि जिस आमंत्रण से पार्षदों को हैरानी हुई है वह

एसएसटीपी योजना के शिलान्यास से संबंधित है। आनन फानन में 11 दिसंबर को दिन के

11 बजे उपायुक्त के हाथों इसका शिलान्यास किया जाने वाला है। लेकिन जानकार मानते

हैं कि यह काम पहले ही प्रारंभ होना था, जिस पर ठेका गिरोह ने कब्जा जमा रखा था।

मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक अगर नहीं होती तो शायद अब भी यह काम प्रारंभ नहीं होता।

अब मोबाइल संदेश के माध्यम से संबंधित लोगों को इसका आमंत्रण भेजा जा रहा है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from गुमलाMore posts in गुमला »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: