fbpx Press "Enter" to skip to content

साइकिल गर्ल ज्योति की नहीं हुई हत्या अफवाह फैलायी गयी थी

दरभंगाः साइकिल गर्ल के तौर पर पूरी दुनिया में ख्यातिप्राप्त ज्योति कुमारी के बारे में

एक अफवाह ने पुलिस और लोगों को काफी परेशान कर दिया था। दरअसल इस लड़की की

चर्चा इस वजह से होती है क्योंकि उसने अपने बीमार पिता को साइकिल पर बैठाकर

हरियाणा के गुरुग्राम से जिले के कमतौल थाना क्षेत्र स्थित अपने घर लाने का काम किया

था। सिरहुल्ली गांव निवासी ज्योति ने अपने बीमार पिता मोहन पासवान को गुरुग्राम से

लगभग 1200 किलोमीटर की दूरी साइकिल से तय कर दरभंगा स्थित अपने घर पहुंची

थी। उसके बाद से इसे साइकिल गर्ल के तौर पर वैश्विक ख्याति प्राप्त है। इसी साइकिल

गर्ल ज्योति के साथ दुष्कर्म और हत्या की खबर पिछले 24 घंटे से सोशल मीडिया के

लगभग सभी प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही है। दरभंगा के वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम

ने रविवार को सोशल साइट पर आ रही इस खबर को पूरी तरह से बेबुनियाद और असत्य

बताया। उन्होंने मामले को स्पष्ट करते हुए कहा कि जिले के पतोर सहायक थाना क्षेत्र के

पतोर गांव में पिछले बुधवार को बागीचे से एक लड़की का शव बरामद किया गया था,

जिसकी पहचान ज्योति पासवान के रूप में की गई। कुछ लोगों ने मृत ज्योति पासवान को

साइकिल गर्ल ज्योति मानकर अफवाह फैला दी। श्री बाबूराम ने कहा कि उन्होंने गलत

खबर पोस्ट करने वाले को चिन्हित कर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश

दिया है।

साइकिल गर्ल के नाम वाली दूसरी लड़की की मौत हुई थी

इसके अलावा उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर झूठी खबर प्रसारित कर जातीय तनाव

भड़काने वाले के विरुद्ध भी प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने ऐसे कुछ

पोस्ट को चिन्हित भी कर लिया है। सोशल मीडिया पर शनिवार सुबह अफवाह फैल गई

कि पिता को गुरुग्राम से दरभंगा लाने वाली साइकिल गर्ल के नाम से मशहूर ज्योति

कुमारी जब आम तोड़ने गई तो उसके साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई।

बिना सत्यता जाने लोगों में इस झूठी खबर को पोस्ट और शेयर करने की होड़ लग गयी।

हालांकि दोनों लड़कियों का नाम एक होने के कारण इस अफवाह ने तूल पकड़ लिया

जबकि साइकिल गर्ल ज्योति के पिता का नाम मोहन पासवान और मृत ज्योति के पिता

का नाम अशोक पासवान है। गौरतलब है कि 01 जुलाई को दरभंगा जिला के ही पतोर

सहायक थाना क्षेत्र के अशोक पासवान की 12 वर्षीय पुत्री ज्योति पासवान का शव उसके

घर के बगल में अर्जुन मिश्रा के बागान में मिला था। आरोप है कि बागान मालिक ने अपने

बाग की रक्षा के लिये बिजली का नंगा तार फैला रखा था, जिसमें करंट था। इसकी चपेट में

आने से ज्योति की मौत हो गई। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों, राजनीतिक दलों और

परिवार के सदस्यों ने ज्योति के साथ दुष्कर्म होने का भी आरोप लगाया था लेकिन 03

जुलाई की देर शाम आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मृतका के साथ दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है।

इस मामले का मुख्य आरोपी अभी भी फरार है। वहीं, इस पूरे प्रकरण के बारे में साइकिल

गर्ल ज्योति और उसके परिवार को पता भी नहीं है।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from महिलाMore posts in महिला »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from साइबरMore posts in साइबर »

2 Comments

  1. […] साइकिल गर्ल ज्योति की नहीं हुई हत्या अ… दरभंगाः साइकिल गर्ल के तौर पर पूरी दुनिया में ख्यातिप्राप्त ज्योति कुमारी के बारे में एक … […]

... ... ...
%d bloggers like this: