Press "Enter" to skip to content

क्रिकेट खेल रहे छात्रों को सीओ ने मैदान से खदेड़ा तो भागे







  • लॉक डाउन में कुछ लोग कर रहे हैं लापरवाही

  • क्वारेंटीन केंद्र का जायजा लेने के क्रम में दिखे

  • विश्वविद्यालय के इलाके में घोर लापरवाही

दीपक नौरंगी

भागलपुर: क्रिकेट खेल रहे छात्रों को आज खदेड़ने की नौबत आयी। दरअसल कोरोना

वायरस जैसी गंभीर बीमारी को लेकर भागलपुर सीओ सोनू भगत भागलपुर जिला

अधिकारी के निर्देश पर क्वारेंटीन सेंटर निरीक्षण करने के लिए अनुसूचित जनजाति

छात्रावास करने पहुंचे थे।

वीडियो में देखिये क्या क्या हुआ इस घटना में

उसी दौरान मारवाड़ी कॉलेज के सामने तालाब के बगल में विश्वविद्यालय इलाके में

मैदान में काफी नौजवान लड़के क्रिकेट खेलते हुए देखे गए।

सीओ सोनू भगत ने ऐसा देख बिना किसी पुलिस फोर्स के अकेले ही मैदान में उन को

समझाने के लिए पहुंचे कि लॉक डाउन है आप लोग लॉक डाउन का पालन क्यों नहीं कर

रहे हैं? मास्क भी क्यों नहीं लगाए हैं। इसके बाद उन्होंने अकेले ही वहां दोपहर को क्रिकेट

खेल रहे करीब 50 छात्रों को खदेड़ा और सभी को वहां से हटाया। यह सारे छात्र बिना मास्क

और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुए क्रिकेट खेल रहे थे। सीओ ने छात्रों को

समझाया कि लॉक डाउन है और इस तरह इकट्ठा होकर क्रिकेट नहीं खेल सकते हैं। लेकिन

छात्र नहीं माने तब सीओ छात्रों को खदेड़ना शुरू कर दिया। खदेड़े जाने के बाद सारे छात्र

वहां से दुम दबाकर भाग निकले। इनमें से कुछ लोग रेल लाइन पार कर दूसरी तरफ भी

चले गये। बाद में इनमें से कुछ लोग ऊंचाई पर मजमा लगाकर भी खड़े नजर आये।

क्रिकेट खेल से ही स्पष्ट है कि गंभीर नहीं है

छात्रों को इस हाल में देखकर ही यह समझा जा सकता है कि वे बीमारी और संक्रमण की

गंभीरता को लेकर इतना कुछ बताने के बाद भी गंभीर नहीं है। इसके पहले अनेकों बार

जिला प्रशासन द्वारा हर स्तर पर लोगों को अपने अपने घरों में रहने की हिदायत दी जा

रही है। दरअसल इस वायरस के संक्रमण का जरिया ही एक दूसरे के नजदीकी संपर्क का

है। इसी वजह से लोगों से बचाव के तौर पर एक दूसरे से दूर रहने की सोशल डिस्टेसिंग की

सलाह दी जा रही है। इसके बाद भी अनेक लोग इसकी गंभीरता को समझ नहीं रहे हैं।

इससे वे खुद के साथ साथ अपने घरवालों और पास पड़ोस को भी खतरे में डाल रहे हैं।

[subscribe2]



More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

2 Comments

Leave a Reply