fbpx Press "Enter" to skip to content

देश का सबसे बड़े स्टंट मैन का अंतिम संस्कार संपन्न

बोकारो थर्मलः देश का सबसे बड़े स्टंट मैन का आज अंतिम संस्कार कर दिया गया।

रहस्यमय तरीके से उसकी मौत के बाद उसके शव को 3 मार्च को पाया गया था। गिनीज

बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में कई कीर्तिमान बनाने वाले एसके चौधरी का शव यहां के एक

गेस्ट हाउस में पाया गया था। 65 वर्षीय चौधरी की पत्नी काजल चौधरी आज हिमाचल से

यहां पहुंची। वहां के नाहन जिला के नवनिया गांव में रहने के बाद वह अपनी पुत्री की

परीक्षा में व्यस्त थीं। उनकी एक पुत्री श्रेया कुमारी अभी 12वीं की परीक्षा दे रही हैं। पत्नी

के आने के बाद इस शव का अंतिम संस्कार किया गया। परीक्षा दे रही पुत्री ने अपने पिता

का अंतिम संस्कार वीडियो कॉल के जरिये देखा।

देश के सबसे बड़े स्टंट मैन चौधरी के अंतिम संस्कार का सारा इंतजाम थाना प्रभारी सह

इनस्पेक्टर उमेश ठाकुर ने करवाया।

बताते चलें कि एस के चौधरी का शव 3 मार्च को संदेहास्पद स्थिति में बोकारो थर्मल

जीएम कॉलोनी के श्रीराम गेस्ट हाउस के रुम में मिला था। मृतक 28 फरवरी को बोकारो

थर्मल आया था तथा उसी दिन बोकारो थर्मल सीआईएसएफ बैरेक में कार्यक्रम दिखाने के

बाद से ही श्री राम गेस्ट हाउस में रह रहा था। इस दौरान उन्होंने बोकारो थर्मल के

सेवानिवृत्त डीवीसी चिकित्सक डॉ एच कुमार से अपना इलाज भी करवाया और दवा

खाया। परन्तु गेस्टहाउस के कर्मचारी जब उसके कमरे में गये तो कमरा नम्बर 101 में

उसे मृत पाया। मृतक गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का आजीवन सदस्य हैं। तथा

हैरतअंगेज करतबों के कारण उन्होंने चार बार अपना नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड

में दर्ज करवाने में सफलता पाए।

देश के सबसे बड़े स्टंट मैन के हैरतअंगेज कारनामे

सर्व प्रथम इन्होंने,360 घंटे तक साइकिल चला विश्व कृतिमान् स्थापित किया। दूसरी बार

विश्व के सबसे भारी बोइंग 777 विमान को सिर के बालों से खिंचा, तीसरी बार वह 19 मार्च

1977 में गवालियर मे खड़े डीजल इंजन को बालों से खिंचा, वा चौथी बार 1997 को

बहारनपुर वेस्ट बंगाल मे 72 घंटे की जल समाधि ली। इसके अलावा अपने सीने में पत्थर

वा टाइब् लाईट तोड़ने सहित कई हैरत अंगेज कारनामे दिखाए है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by