fbpx Press "Enter" to skip to content

राष्ट्रीय खबर की पहल पर सम्मानित किये गये तीन दर्जन से अधिक लोग

  • मानवता के प्रहरी सम्मान समारोह में कोरोना योद्धाओं का सम्मान

  • लॉकडाउन के दौरान लगातार जरूरतमंदों की सेवा कर रहे थे लोग

  • उनकी गतिविधियों से संबंधित रिपोर्ट भी प्रकाशित की गयी थी

राष्ट्रीय खबर

रांचीः राष्ट्रीय खबर की पहल पर कोरोना काल में खास तौर पर लोगों की मदद के लिए

विशेष भूमिका निभाने वाले नायकों का आज एक संक्षिप्त समारोह में सम्मान किया

गया। कोरोना गाइड लाइन के तहत इसका आयोजन स्थानीय स्वागतम वैंक्वेट हॉल में

किया गया था। इसमें रांची के अलावा सिमडेगा, हजारीबाग के वैसे लोग भी सम्मानित

हुए, जिन्होंने कोरोना काल में अपनी सीमित संसाधनों के बाद भी मानव जाति की

उल्लेखनीय सेवा की। वैसे इस सम्मान में बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय और

भागलपुर के पूर्व एसएसपी आशीष भारती को भी सम्मानित किया गया है लेकिन वे दोनों

समारोह में उपस्थित नहीं थे। उनका सम्मान राष्ट्रीय खबर के पटना कार्यालय के माध्यम

से उनलोगों तक पहुंचाया जाएगा। समारोह में निजी कारणों से उपस्थित होने वालों को भी

भी अलग से उनका सम्मान बाद में प्रदान किया जाएगा।

दिन के साढ़े ग्यारह बजे से आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्वी भारत के

विशिष्ट नेत्र चिकित्सक और सुविख्यात रेटिना सर्जन डॉ बीपी कश्यप थे। अपने अत्यंत

व्यस्त कार्यक्रमों के बीच भी वह समारोह में ससमय उपस्थित हुए और लोगों का उत्साह

वर्धन किया। उन्होंने अपने संक्षिप्त संबोधन में इस पूरे कोरोना काल का विवरण देते हुए

इसमें अग्रणी भूमिका निभाने वाले हरेक का आभार व्यक्त किया और उम्मीद जतायी कि

मानव जाति पर जब कभी इस किस्म का संकट आयेगा तो लोग इसी तरीके से आगे

बढ़कर एक दूसरे की मदद कर अपने इंसान होने का कर्तव्य निभायेंगे।

राष्ट्रीय खबर की पहल के समारोह को दो बार स्थगित किया गया था

समारोह के विशिष्ट अतिथि और शिव शिष्य परिवार के प्रमुख आर्चित आनंद ने इस

आयोजन तथा इसमें सम्मानित होने वालों की सराहना की और कहा कि यह निश्चित तौर

पर मानवीय गुणों का प्रदर्शन है जब लोग एक दूसरे की मदद के लिए स्वतः ही आगे आते

हैं। समारोह के विशिष्ट अतिथि और स्वतंत्र पत्रकार कुमार कौशलेंद्र ने अपने संबोधन मे

कहा कि ऐसा गुण लोगों को अपने परिवार से संस्कारों से प्राप्त होता है। इसे कृत्रिम तरीके

से किसी के अंदर विकसित नहीं किया जा सकता।

समारोह में सम्मान पाने वालों को स्मृति चिह्न और उनके काम का उल्लेख करने वाली

प्रकाशित रिपोर्ट का प्रमाणपत्र के अलावा अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। इस

अवसर पर संपादक रजत कुमार गुप्ता ने समाचार पत्र की वर्तमान स्थिति और भावी

योजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए लोगों से सहयोग की अपील की

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: