fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना वॉरियर्स को सम्मानित किया कोल इंडिया के अध्यक्ष ने

  • प्लाज्मा दाताओं को भी सम्मानित किया गया

  • कोयला कर्मियों ने देश हित में योगदान दिया है

  • इस दौरान स्वास्थ्यकर्मियों ने जान जोखिम में डाला

  • प्रमोद अग्रवाल ने वोकेशनल ट्रनिंग सेंटर का उदघाटन किया

रांचीः कोरोना वॉरियर्स को आज सीसीएल मुख्यालय, रांची स्थित कन्वेंशन सेंटर में

आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया गया। इस अवसर कोल इंडिया के अध्यक्ष

प्रमोद अग्रवाल ने सीसीएल, अस्पताल में कार्यरत चिकित्सक, पारा मेडिकल स्टॉफ

एवं नर्स को कोरोना वॉरियर्स के रूप में सम्मानित किया। साथ ही उन्होंने कोरोना से

ठीक हुये 6 कर्मियों को भी प्लाज्मा दान के लिए सम्माानित किया।

इस अवसर पर सीसीएल के सीएमडी पी.एम. प्रसाद, निदेशक तकनीकी (संचालन) वी.के.

श्रीवास्तव, निदेशक (वित्त) एन.के. अग्रवाल, निदेशक (कार्मिक) विनय रंजन, सीवीओ

एस.के. सिन्हा , सीएमएस सीसीएल डॉ मंजू मिश्रा एवं विभिन्न विभागों के महाप्रबंधक,

विभागाध्यकक्ष सहित सीसीएल कर्मी सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करते हुये कोरोना

वॉरियर्स के इस सम्मान समारोह में उपस्थित थे।

इस अवसर पर अध्यशक्ष श्री अग्रवाल ने कहा कि कोरोना के कठिन समय में

चिकित्सक, पारा मेडिकल स्टाफ, नर्स एवं सफाई कर्मियों ने अपनी निष्ठा एवं समर्पण से

जिस तरह से योगदान किया है उसकी जितनी प्रशंसा किया जाये कम है। श्री अग्रवाल ने

कहा कि मुझे गर्व है कि सीसीएल सहित सभी अनुषंगी कंपनियों ने कोरोना का सामना

करते हुये देशहित में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंने कहा कि सीसीएल कोयला

उत्पादन के साथ-साथ सदैव ही लोककल्या‍णकारी कार्य में भी अग्रणी भूमिका निभा रहा

है।


सीएमडी श्री प्रसाद ने कहा कि कोविड महामारी के दौरान चिकित्सा कर्मियों ने सीसीएल

के दो केन्द्रीय अस्पताल गांधीनगर तथा रामगढ़ में कोरोना संक्रमितों का सफलतापूर्वक

ईलाज में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। चिकित्सा कर्मियों ने स्वयं को जोखिम में

डालकर जिस तरह से मरीजों की सेवा की है वह उल्लेखनीय है।

कोरोना वॉरियर्स ने संकट में जो काम किया वह सराहनीय

निदेशक (कार्मिक) विनय रंजन ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि चिकित्सकों का

मानवीय रूप देखने को मिला है। श्री रंजन ने कहा कि संक्रमित मरीजों की सफलता दर

लगभग शत प्रतिशत है जो इस बात का परिचायक है कि वे पूरी सजगता एवं समपर्ण से

मानव सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के शुरूआती दौर में ही सीसीएल ने

संक्रमन से लड़ने के लिए अपने आप को तैयार कर लिया था। महामारी के समय में

सीसीएल ने रामगढ़ अस्पताल में 11 वेंटिलेटर जबकि गांधीनगर अस्पताल में 04

वेंटिलेटर सहित अन्य सभी आधुनिक सेवाएं उपलब्धं कराये गये हैं। केन्द्रीय अस्पताल

गांधीनगर एवं रामगढ़ में 180 बेड की व्यवस्था की गयी थी और लगभग 1400 से अधिक

मरीजों का सफलतापूर्वक ईलाज किया जा चुका है जिसमें से लगभग 900 संक्रमित मरीज

झारखंड राज्य के विभिन्न जिलों से थे जबकि 500 सीसीएल कर्मी का ईलाज किया गया।

ईलाज के दौरान कई चिकित्सक एवं अन्य संक्रमित भी हुये।

अवसर विशेष पर अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने मगध एवं आम्रपाली के अंतर्गत एक वोकेशनल

ट्रेनिंग सेंटर का ऑनलाईन उद्घाटन किया। साथ ही उन्होंने रेस्ट शेल्टेर एवं फर्स्ट एड

रूम का भी ऑनलाईन उदघाटन किया। सीसीएल के इस पहल से मगध एवं आम्रपाली

परियोजना के आसपास रहने वाले ग्रामीणों का निश्चय ही लाभ होगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: