fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना प्रिवेंटिव कैप्सूल लांच करने की तैयारी में डालमिया ग्रुप

नयी दिल्ली : कोरोना प्रिवेंटिव कैप्सूल भी शीघ्र ही भारतीय बाजार में लाया जा सकता है।

वैश्विक स्तर पर महामारी घोषित कोरोना वायरस कोविड-19 से सुरक्षा के लिए डालमिया

ग्रुप हर्बल कंपोज़िशन डीएचएल कोरोना वायरस प्रिवेंटिव कैप्सूल लॉन्च करने की तैयारी

कर रहा है। ग्रुप ने यहां जारी बयान में कहा कि यह दवा 16 मार्च 2020 को दिल्ली में लॉन्च

की जाएगी तथा दिल्ली एनसीआर की सभी दवा दुकानों पर उपलब्ध होगी। यह भारत में

ऑनलाइन रिटेल प्लेटफार्म, डालमिया बेस्ट प्राईज़ पर भी उपलब्ध होगी। 60 कैप्सूल के

पैक का मूल्य 480 रुपये होगी। डालमिया ग्रुप ऑफ कंपनीज के अध्यक्ष संजय डालमिया

ने यह घोषणा करते हुये कहा कि डीएचएल कोरोनावायरस प्रिवेंटिव कैप्सूल एक

पालीहर्बल कॉम्बिनेशन है, जो कोरोना वायरस से सुरक्षा देने के लिए इस्तेमाल किया जा

सकता है। यह प्रतिरोधी शक्ति को मजबूत करता है और ब्रोंकोडाईलेटर, डिकान्जेस्टेंट,

एंटी-इन्फ्लेमेटरी एवं लंग डिटॉक्सिफायर के रूप में काम करता है। इससे संक्रमण को कम

करने और एलर्जिक रिएक्शंस को ठीक करने में मदद मिलती है। यह श्वसन नली के

म्यूकोसा तथा फेफड़ों में वायुमार्ग का निर्माण करने वाली मांसपेशियों की दीवारों पर काम

करता है। इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी प्रभाव है जो फेफड़ों के अंदर सूजन एवं रुकावट को कम

करता है। इसके निरंतर उपयोग से फेफड़ों एवं मांसपेशियों को होने वाला नुकसान कम

होता है तथा उनके कार्य में सुधार होता है। उन्होंने कहा कि डालमिया सेंटर फॉर रिसर्च एंड

डेवलपमेंट (डीसीआरडी) ने कई सालों की शोध के बाद 15 औषधियों का एक पालीहर्बल

कॉम्बिनेशन विकसित किया है, जिसे आस्था-15 का नाम दिया गया है।

कोरोना प्रिवेंटिव कैप्सूल से पहले टीका का भी दावा 

इससे पहले हांगकांग की एक प्रयोगशाला ने भी इस किस्म का टीका विकसित करने का

दावा किया है। लेकिन अब तक यह परीक्षण की स्थिति में हैं। बिना क्लीनिकल परीक्षण के

किसी भी ऐसी दवा का सार्वजनिक इस्तेमाल करने पर वैश्विक प्रतिबंध हैं। अभी दुनिया

भर में कोरोना वायरस की रोकथाम और बचाव के संबंध में शोध और अनुसंधान चल रहे

हैं। फिर भी इस बीमारी से बचाव का कोई विज्ञान सम्मत तरीका अब तक सामने नहीं

आया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by