fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना पीड़ितों ने ठेले पर बेचा सामान खाने वाले अब परेशान

  • शहर के केंद्र फव्बारा चौक पर लगा रहे थे ठेला

  • बाहर से लौटने के बाद होम क्वारेंटीन में नहीं थे

  • जिनलोगों ने यहां खाया है, उन्हें भी पूरा खतरा

  • सैकड़ों लोगों ने खाया चप, घूघनी और मुरही

प्रतिनिधि

मालदाः कोरोना पीड़ित युवकों के ठेलों पर से हल्का फुल्का खाना अनेक लोगों को भारी पड़

सकता है। अपने अपने ठेला पर ये युवक आलू चाप, घूघनी और मुरही चनाचूर बेच रहे थे।

वहां अचानक स्वास्थ्य विभाग और पुलिस के पहुंचने के बाद ठेलों पर से खाने वालों की

चिंता बढ़ी। शहर के केंद्र फव्बारा मोड़ पर ही कोरोना पीड़ितों का ठेला लगा था। अपने हाथ

से सारा कुछ बनाकर लोगों को बेचने वालों को जब पकड़ा गया तो वहां से खाने वालों की

परेशानी बढ़ गयी है। भीड़ द्वारा पूछे जाने पर यह बताया गया कि दरअसल ये कोरोना

पॉजिटिव पाये गये हैं। इसलिए उन्हें कोरोना चिकित्सा केंद्र जबरन ले जाया जा रहा है।

नियम के मुताबिक उन्हें खुद ही चले जाना था। नियमों का पालन नहीं करने की वजह से

उनके ईलाज के साथ साथ मुकदमा भी दर्ज किया जाएगा। इस घटना के बाद इलाके के

फुटपाथ पर लगे सभी ठेलावाले अपना अपना ठेला लेकर नौ दो ग्यारह हो गये हैं।

स्वास्थ्य विभाग के स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक निरंतर चल रही जांच में मालदा

शहगर में 47 नये कोरोना रोगी पाये गये हैं। इसमें से शहर के दस लोग हैं। इसके साथ

साथ महिलाओं के बीच यह संक्रमण कुछ अधिक बढ़ता हुआ भी नजर आने लगा है। पूरे

जिला में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या पांच सौ से अधिक हो चुकी है।

कोरोना पीड़ितों ने जानबूझकर नियमों का उल्लंघन किया

पुलिस के मुताबिक शहर के बालुचर इलाके में चार लोगों के संक्रमित होने की रिपोर्ट मिली थी।

इनमें तीन लोग ठेला वाले ही है।

बाहर से लौटने वाले प्रवासी मजदूरों ने कमाई के लिए अपना ठेला चालू कर लिया था।

नियम के मुताबिक उन्हें अपने ही घर में दूसरों से अलग रहना था ताकि जांच रिपोर्ट आये।

होम क्वारेंटीन में नहीं रहते हुए वे नियम का उल्लंघन कर कारोबार में उतर गये थे।  इस

लिए इनलोगों के माध्यम से और कितने लोग संक्रमित हो चुके हैं, उसकी जानकारी ऐसे

लोगों की जांच से ही हो पायेगी। वहां के अनेक लोगों ने इन ठेलों से कुछ न कुछ खाया है।

उनमें से कुछ लोग खुद के पहल से जांच के लिए आगे आये हैं। पुलिस अधीक्षक आलोक

राजोरिया ने कहा कि लोगों द्वारा नियमों का सख्ती से पालन नहीं किये जाने की वजह से

फिर से कड़ाई की जा रही है। बिना मास्क के नजर आने वालों को भी पकड़ा जा रहा है

क्योंकि फिलहाल मास्क पहनकर ही बाहर निकलने का नियम लागू है


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!